Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

ED ने दोबारा महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के ठिकानों पर छापे मारे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ED ने दोबारा महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के ठिकानों पर छापे मारे

नागुपर । प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के नागपुर और वर्ली स्थित आवास पर छापा मारा है। बता दें कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख 100 करोड़ वसूली मामले को लेकर अनिल देशमुख पर मनी लॉन्ड्रिंग (Money laundering) का केस दर्ज किया गया था। जिसे लेकर ईडी लगातार उनसे पूछताछ कर रही है।

बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्‍त परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली को लेकर गंभीर आरोप लगाए थे । आरोपों में कहा गया हिक अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को प्रति माह 100 करोड़ की उगाही करने के लिए कहा था। इस आरोप को लेकर अनिल देशमुख पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया गया था। 


असल में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप को लेकर प्रवर्तन निदेशालय इससे पहले भी अनिल देशमुख के आवास पर छापेमारी कर चुका है। इससे पहले 25 मई को भी उनके आवास पर इडी ने छापा मारा था। अनिल देशमुख पर भ्रष्‍टाचार का आरोप लगने के बाद उन्‍होंने गृहमंत्री के पद से इस्‍तीफा दे दिया था। 

हालांकि परमबीर सिंह के अलावा सचिन वाजे ने भी अनिल देशमुख पर अवैध वसूली के आरोप लगाए हैं । अपने बयान में वाजे ने कहा था कि 6 जून 2020 को मैंने दोबारा अपना पद ग्रहण किया था लेकिन शरद पवार मुझसे खुश नहीं थे और मुझे दोबारा सस्‍पेंड करने के लिए कहा गया। तब अनिल देशमुख ने शरद पवार को मनाने के लिए मुझसे 2 करोड़ रुपये की मांग की थी।

Todays Beets: