Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

राजस्थान के शिक्षामंत्री ने महिलाओं को बताया सिरदर्द''  , बोले महिलाएं आपस में बहुत लड़ती हैं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान के शिक्षामंत्री ने महिलाओं को बताया सिरदर्द

जयपुर । हमारे माननीयों की जुबान भी कब फिसल जाए और उसपर क्या बखेड़ा हो जाए कोई नहीं जानता । वहीं हमारे कुछ माननीयों की मानसिकता उनकी जुबान के जरिए झलक जाती है । हाल में राजस्थान (Rajasthan) के शिक्षा मंत्री जीएस डोटासरा (Education Minister GS Dotasra) अपने एक बयान को लेकर विवादों में आ गए हैं । असल में महिला सशक्तीकरण पर आयोजित एक कार्यक्रम में ही उन्होंने कुछ ऐसा कह डाला कि महिलाओं ने उन्हें निशाने पर ले लिया है । अपने संबोधन के दौरान महिला कर्मचारियों के बारे में बोलते-बोलते मंत्री महोदय ने महिलाओं को सिरदर्द का कारण बता दिया । हालांकि बाद में अपने बयान को छिपाने की जुगत लगाते नजर आए । 

बता दें कि राजस्थान के शिक्षा मंत्री जीएस डोटासरा (GS Dotasra) बीते सोमवार को महिला सशक्तीकरण (Women Empowerment) पर आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे । अपने संबोधन में वह बोले - सरकार ने महिलाओं के लिए नीति पेश की. उन्हें प्राथमिकता दी जाती है, लेकिन महिला कर्मचारियों का आपस में विवाद रहता है। 


वह इतने पर ही नहीं रुके , वह बोले - जहां महिला कर्मचारी हैं, वहां प्रधानाचार्य या शिक्षक 'सेरिडोन' (सिर दर्द की दवा ) लेते हैं ।  गहलोत सरकार के शिक्षा मंत्री ने महिलाओं को नसीहत देते हुए कहा कि यदि वह आपसी विवाद की अपनी इस कमजोरी को दूर कर देती हैं, तो पुरुषों से आगे निकल जाएंगी । 

इस दौरान माननीय होले - राजस्थान सरकार ने हमेशा महिलाओं की सुरक्षा और आराम सुनिश्चित किया और उन्हें नौकरियों में पसंदीदा पोस्टिंग दी है । हमने नौकरियों, चयन और पदोन्नति में महिलाओं को वरीयता दी है. कई लोग कहते हैं कि हमने शहरों में और उसके आसपास सबसे अधिक महिलाओं को तैनात किया है।  

  

Todays Beets: