Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

LIVE - कोटा में नवजातों के मरने का आंकड़ा 102 पर पहुंचा , सत्ता पक्ष - विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE - कोटा में नवजातों के मरने का आंकड़ा 102 पर पहुंचा , सत्ता पक्ष - विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

जयपुर/कोटा । राजस्थान के कोटा में सरकारी अस्पताल में 102 बच्चों की मौत का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है । लगातार बच्चों की मौत के मामले में जहां राज्य की अशोक गहलोत सरकार सक्रिय हो गई है , वहीं सरकारी अस्पताल के उपकरणों को बदला जा रहा या नए मंगाएं जा रहे हैं । इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हम केंद्र सरकार से मदद लेने के लिए तैयार हैं । वहीं विपक्षी दलों ने इस मुद्दे पर राज्य सरकार के साथ ही कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को आड़े हाथों लिया है । यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि आखिर वह पीड़ित माताओं से मिलने कोटा क्यों नहीं जा रही हैं । 

कोटा के जेके लोन अस्पताल में 1 जनवरी को अस्पताल में 4 दिन की बच्ची की ठंड से मौत हो गई, वहीं 2 जनवरी तक 2 और बच्चे काल के गाल में समा गए । 30 और 31 दिसंबर को कुल 9 बच्चों की मौत हुई । अस्पताल प्रशासन की सभी कोशिशें नाकाम हो रही हैं । इतनी मौतों के बाद भी नज़र कोई बदलाव नहीं आ रहा है ।

बता दें कि राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत का मामला बढ़ता जा रहा है । अब तक कोटा में पिछले एक माह में 102 बच्चों की मौत हो गई है । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोटा में हुई बीमार शिशुओं की मृत्यु पर सरकार संवेदनशील है । इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। कोटा के इस अस्पताल में शिशुओं की मृत्यु दर लगातार कम हो रही है। हम आगे इसे और भी कम करने के लिए प्रयास करेंगे। मां और बच्चे स्वस्थ रहें यह हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है । 


वहीं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि हर साल लाखों बच्चे कुछ बीमारियों या 6-7वें महीने में भी पैदा होते हैं । ये बच्चे कमजोर होते हैं । समय से स्वास्थ्य सेवाएं न मिलने के चलते कई बार ऐसे बच्चों को बचाना मुश्किल हो जाता है । 

घटना को लेकर कोटा की जेके लोन अस्पताल के नवनियुक्त उप अधीक्षक डॉ. गोपी किशन शर्मा ने कहा - अस्पताल में खराब उपकरणों को काफी हद तक ठीक करवा लिया है। कुछ नए भी मंगवाए गए हैं । अस्पताल के 19 वेंटिलेटर में से 10 अभी चालू है , 6 पूरी तरह खराब हो गए हैं। हमने 8 नए इन्फ्यूजन पंप मंगवाए हैं ।

Todays Beets: