Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी भी हुए बागी, बेटे ने सपा से भरा पर्चा

भोपाल। राज्यों में होने वाले चुनावों के मद्देनजर टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं का दूसरी पार्टियों के दामन को थामने का सिलसिला जारी है। टिकट न मिलने से नाराज मध्यदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी ने समाजवादी पार्टी के साइकिल पर सवार हो गए और अब वे अपनी मनचाही सीट से नामांकन दाखिल किया है। बेटे के समाजवादी में शामिल होने के बाद उसके लिए प्रचार करने के सवाल पर पूछने पर उन्होंने कहा कि पिता होने के नाते जितना हो पाएगा करूंगा। 

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे भी राजनगर से टिकट न मिलने के बाद समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे। समाजवादी पार्टी में शामिल होते ही उनके बेटे को उनकी मनचाही सीट से टिकट भी दे दिया गया और उन्होंने अपना नामांकन भी कर दिया। 

ये भी पढ़ें - अब महाराष्ट्र में भी उठी शहरों के नाम बदलने की मांग, शिवसेना नेता ने बताए इन 2 जगहों के नाम


यहां बता दें कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में करीब 39 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। उसमें कई बड़े नेताओं के नाम काट दिए गए हैं। नितिन चतुर्वेदी के सपा में शामिल होने पर सत्यव्रत चतुर्वेदी ने अपनी ही पार्टी पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस पिछले 15 सालों से गलती कर रही है।  

गौर करने वाली बात है कि सत्यव्रत चतुर्वेदी मध्यप्रदेश के बड़े संभाग के ब्राह्मण का नेतृत्व करते हैं। वे मध्यप्रदेश में विधायक, मंत्री और सांसद रह चुके हैं। ऐसे में उनके अपने बेटे के समर्थन में उतर आना कांग्रेस के प्रचार अभियान को नुकसान पहुंचा सकता है।  

Todays Beets: