Sunday, September 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

नई पार्टी में जाने की खबरें अफवाह , मेरी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल है, थी और रहेगी - तेजप्रताप यादव

अंग्वाल संवाददाता
नई पार्टी में जाने की खबरें अफवाह , मेरी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल है, थी और रहेगी - तेजप्रताप यादव

पटना । राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव इन दिनों अपने बगावती तेवरों के चलते सुर्खियों में हैं। पिछले दिनों राजद से अलग तेजप्रताप द्वारा नया मोर्चा खड़ा करने की खबरों और नए दल में शामिल होने जैसी खबरों को खारिज करते हुए उन्होंने एक ट्वीट करते हुए सफाई दी है । बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप ने हाल में चल रही खबरों को खारिज करते हुए कहा - मीडिया और सोशल मीडिया पे चल रही खबरें कि मैंने नई राजनीतिक पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है, यह एक अफवाह है । मैं इस खबर को पूरी तरह से खारिज करता हूं ।  मेरी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल है, थी और रहेगी।

सुषमा स्वराज की राहुल गांधी को नसीहत , भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें, आडवाणी जी - हमारे पिता तुल्य

बता दें कि लोकसभा चुनावों में अपने कुछ करीबियों को टिकट नहीं दिलवा पाने के चलते वह नाराज हो गए थे , वहीं सारण से अपने ससुर चंद्रिया राय को टिकट दिए जाने से भी वह काफी नाराज थे । खबरें थी कि उन्होंने ऐलान कर दिया है कि वह अपनी मां राबड़ी देवी को सारण सीट से उम्मीदवार बनाना चाहते हैं, ऐसा नहीं होने की सूरत में वह खुद इस सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतरेंगे । वहीं जहानाबाद और शिवहर सीट से अपने पसंद का उम्मीदवार न मिलने के कारण उन्होंने बगावती सुर अपना लिए थे। अपने चहेतों को टिकट न मिलने के कारण उन्होंने छात्र राष्ट्रीय जनता दल के संरक्षक के पद से इस्तीफा भी दे दिया था।

LIVE - शत्रुघ्न सिन्हा बुझे मन से कांग्रेस में शामिल , कहा-पार्टी क्यों छोड़ रहा हूं सबको पता है , भाजपा की लोकशाही अब तानाशाही में बदली


असल में तेज प्रताप जहानाबाद सीट से चंद्र प्रकाश के लिए टिकट मांग रहे थे , जबकि शिवहर लोकसभा सीट से अंगेश को टिकट दिलवाने के लिए छोटे भाई तेजस्वी यादव से उलझ गए थे। राष्ट्रीय जनता दल ने जब अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की तो जहानाबाद से सुरेंद्र यादव को टिकट दिया और शिवहर सीट पर पार्टी ने अभी तक उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की है। इसके बाद खबरें आईं कि तेज प्रताप यादव आरजेडी छोड़ कर अन्य पार्टी बना सकते हैं । खुद उन्होंने कहा था कि अगर इन दो सीटों पर मेरे पसंद का उम्मीदवार नहीं मिलता है तो ''लालू-राबड़ी मोर्चा'' का गठन करके अपना उम्मीदवार उतारुंगा।

 

 

 

Todays Beets: