Saturday, September 26, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

पटना में तेजस्वी-राबड़ी का सियासी हंगामा , गोपालगंज जाने के लिए विधायकों समर्थकों समेत घर से निकलें, पुलिस ने रोका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पटना में तेजस्वी-राबड़ी का सियासी हंगामा , गोपालगंज जाने के लिए विधायकों समर्थकों समेत घर से निकलें, पुलिस ने रोका

पटना । बिहार की राजधानी पटना में राजद नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और उनकी मां और पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने गुरुवार को जमकर सियासी हंगामा किया । असल में गोपालगंज में हुए एक तिहरे मर्डर केस में जदयू नेता अमरेंद्र पांडे का नाम आने पर उनकी गिरफ्तारी को लेकर और पीड़ित परिवार से मिलने जाने की बात कहते हुए तेजस्वी आज अपनी मां - विधायक और समर्थकों के साथ गोपालगंज के लिए निकले , लेकिन पुलिस प्रशासन ने उन्हें जाने की इजाजत न देते हुए घर के गेट पर ही रोक लिया । जिले में लॉकडाउन के दौरान हुए इस सियासी हंगामे में राजद के कई विधायक भी उनके घर पर मौजूद थे , जिन्होंने नीतीश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की । हालांकि इस दौरान बड़ा संकट यह भी नजर आया कि इस भारी भीड़ में कोई भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहा था । इस घटनाक्रम पर पटना के एसपी ने कहा कि तेजस्वी को पहले ही नोटिस जारी कर दिया था , उन्हें जाने नहीं दिया जाएगा , अगर व्यवस्ता बिगड़ी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी । 

बता दें कि पिछले दिनों गोपालगंज में एक तिहरे हत्याकांड में जदयू नेता अमरेंद्र पांडे का नाम भी नामजद है । इस मामले में राजद नेता और बिहार में नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने सरकार को चेतावनी दी थी कि जदयू नेता की गिरफ्तारी की जाए, नहीं तो वह अपने विधायकों के साथ पीड़ित परिवार से मिलने गुरुवार को गोपालगंज जाएंगे । इस पर प्रशासन ने उन्हें नोटिस भेजते हुए उन्हें नहीं जाने को कहा था । 


गुरुवार को तेजस्वी यादव अपने कुछ विधायकों और समर्थकों के साथ गोपालगंज जाने के लिए निकले । लेकिन पुलिस प्रशासन ने उन्हें घर के गेट पर ही रोक दिया। पुलिस प्रशासन ने साफ कर दिया कि उन्हें लॉकडाउन की स्थिति में गोपालगंज नहीं जाने दिया जाएगा । गृहमंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार, किसी को भी इस तरह जाने नहीं दिया जाएगा । यह एक राजनीतिक कार्यक्रम है । अगर उन्होंने कानून तोड़ा तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी । 

वहीं इस पूरे घटनाक्रम पर तेजस्वी बोले कि लॉकडाउन में अपराधियों को इधर उधर जाने की और हत्या करने की छूट है , लेकिन हमें जो कि गोपालगंज के विधायक हैं  , नेता विपक्ष हैं उन्हें अपने क्षेत्र में जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। यह नीतीश सरकार की कार्यशैली का एक नमूना है । इस दौरान उन्होंने पुलिस से हाउस अरेस्ट करने संबंधी दस्तावेजों की मांग की । तेजस्वी बोले - हम न्याय के लिए पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहे हैं तो हमें रोका जा रहा है । 

खबर लिखे जाने तक तेजस्वी के घर के बाहर बड़ी संख्या में लोग नीतीश सरकार के खिलाफ नारेजाबी कर रहे हैं । ये लोग न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं , न ही लॉकडाउन के नियमों का पालन कर रहे हैं ।  

Todays Beets: