Monday, March 30, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

अब योगी सरकार ने Coronavirus को महामारी घोषित किया, सभी स्कूल-कॉलेज 22 मार्च तक बंद , जारी रहेंगी परीक्षाएं 

अंग्वाल संवाददाता
अब योगी सरकार ने Coronavirus को महामारी घोषित किया, सभी स्कूल-कॉलेज 22 मार्च तक बंद , जारी रहेंगी परीक्षाएं 

लखनऊ । सूबे की योगी सरकार ने भी कोरोना वायरस को महामारी घोषित करते हुए इससे उत्पन्न खतरे के मद्देनजर राज्य के सभी स्कूल कॉलेजों को आगामी 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिया है । इसके संबंध में एक सर्कुलर जारी कर दिया गया है । खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि निर्धारित तिथि तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद रखा जाएगा , हालांकि जहां परीक्षाएं चल रही हैं, वहां परीक्षाएं जारी रहेंगी , लेकिन जहां आगे परीक्षाएं होनी है , उनकी तारीखें बदलने के लिए स्कूल प्रबंधकों को कह दिया गया है । 

बता दें कि कोराना वायरस के चलते जहां विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे एक महामारी घोषित कर दिया है , वहीं अब राज्य सरकार ने भी इसे महामारी घोषित करते हुए आगामी 22 मार्च तक यूपी के सभी स्कूल कॉलेजों को बंद रखने का आदेश जारी कर दिया है । सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद एक पत्रकार वार्ता में इसकी जानकारी दी । उन्होंने कहा कि इस संक्रमण के इलाज के लिए सभी सुविधाएं स्थानीय प्रशासन ने पूरी कर ली हैं । 

उन्होंने कहा कि इस बीमारी की जांच के लिए जहां कुछ केंद्र बनाए गए हैं , वहीं कई वार्ड भी बनाए गए हैं । उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए 4 हजार से ज्यादा डॉक्टरों को प्रशिक्षण दिया गया है । हर जिले में आपात स्थिति के लिए वार्ड बनाए गए हैं । 24 मेडिकल कॉलेजों में आईसोलेशन वार्ड के रूप में तैयार किए गए हैं।


बता दें कि शुक्रवार को नोएडा की एक लेदर फैक्टरी के कर्मचारी में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद अब उस कंपनी के सभी 707 कर्मचारियों को स्वास्थ्य विभाग निगरानी में रखे हुए है । इस शख्स का अभी दिल्ली में इलाज हो रहा है । गौरतलब है कि इसी केस के साथ अब तक यूपी में कोरोना वायरस के कुल पॉजिटिव केस 12 हो गए हैं, इनमें 11 भारतीय और 1 विदेशी नागरिक हैं । 

 

Todays Beets: