Saturday, August 8, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

LIVE - औरेया में मिली विकास दुबे की आखिरी लोकेशन , मध्य प्रदेश भागने की आशंका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE - औरेया में मिली विकास दुबे की आखिरी लोकेशन , मध्य प्रदेश भागने की आशंका

लखनऊ । यूपी के हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को भले ही पुलिस और एसटीएफ की टीमें उत्तर प्रदेश में खोज रही हों , लेकिन उसके फोन की आखिरी लोकेशन औरेया आई है । ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि वह यूपी से मध्य प्रदेश भाग गया हो । वहीं यूपी पुलिस ने बिकरू गांव एनकाउंटर कांड की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं । अब इस केस की जांच ADM करेंगे। हालांकि शनिवार शाम सोशल मीडिया पर विकास दुबे के एनकाउंटर की खबरें तेजी से फोटो के साथ वायरल हुई , जिसे लेकर प्रशासन के बयान का इंतजार किया जाता रहा। हालांकि बाद में यह अफवाह साबित हुई। इस बीच यूपी के औरैया जिले के दिबियापुर इलाके में एक अज्ञात कार मिली है । ये कार औरेया के एलजी गार्डन गेस्ट हाउस के पास मिली है । कार पर लखनऊ का नंबर है ।

बता दें कि यूपी पुलिस के 8 जवानों और अफसरों की हत्या की वजह बनने वाले विकास दुबे के पूरी कुंडली अब यूपी पुलिस खंगाल रही है । पुलिस ने विकास दुबे के सभी पुराने मुकदमों की समीक्षा शुरू कर दी है । इसकी सीधी निगरानी पुलिस मुख्यालय कर रहा है । इस सबके बीच एक खास बात यह सामने आई है कि इस साल मार्च महीने में एसटीएफ ने पुलिस मुख्यालय में 25 दुर्दांत अपराधियों की एक सूची भेजी थी, हैरान करने वाली बात ये है कि इस लिस्ट में विकास दुबे का नाम नहीं था ।


इस मामले में विकास की कॉल डिटेल के आधार पर कुल 24 पुलिसवालों के नाम सामने आए हैं , जो लगातार विकास दुबे के संपर्क में रहते थे । सूत्रों के मुताबिक विकास दुबे के साथ चौबेपुर थाने का एक दारोगा और दो सिपाहियों के लगातार संपर्क में रहने के साक्ष्य मिले हैं । शिवराजपुर थाने के भी कुछ सिपाही विकास दुबे के लगातार संपर्क में थे । 

Todays Beets: