Wednesday, September 30, 2020

Breaking News

   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||   अभिनेत्री कंगना रनौत-बीएमसी मामले में सुनवाई स्थगित     ||   सुशांत केस - जांच में देरी पर CBI बोली - हम हर एंगल की बारीकी और प्रोफेशनल तरीके से कर रहे हैं जांच    ||   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||

विश्वभारती यूनिवर्सिटी में जमकर हंगामा , बाहरी लोगों को रोकने के लिए बनाई जा रही दीवार गिराई गई , कई ऐतिहासिक ढांचे तोड़े गए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विश्वभारती यूनिवर्सिटी में जमकर हंगामा , बाहरी लोगों को रोकने के लिए बनाई जा रही दीवार गिराई गई , कई ऐतिहासिक ढांचे तोड़े गए

कोलकाता । पश्चिम बंगाल में सोमवार दोपहर बीरभूम जिले में स्थिति विश्वभारती यूनिवर्सिटी में जमकर हंगामा हुआ । असल में शांति निकेतन की यह यूनिवर्सिटी पिछले दिनों मेला ग्राउड के करीब एक दीवार के निर्माण का काम शुरू किया था , जिसका स्थानीय लोग विरोध कर रहे थे । बावजूद इसके निर्माण कार्य जारी रहने पर आज स्थानीय लोगों ने हंगामा कर दिया । निर्माण कार्य का विरोध कर रहे लोगों ने इस दौरान यूनिवर्सिटी में कई ऐतिहासिक ढांचों को तोड़ दिया, जबकि निर्माण स्थल पर सामाग्री को भी इधर उधर फेंक दिया है । इस समय पुलिस और प्रदर्शन  के बीच रुक रुक कर झड़प हो रही है । बताया जा रहा है कि इस दीवार का निर्माण यूनिवर्सिटी परिसर में बाहर से आने वाले लोगों को रोकने के लिए किया जा रहा है ।

असल में विश्वभारती यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पिछले सप्ताह एक दीवार का निर्माण शुरू कराया था जिसका स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं । इस दीवार का निर्माण एक मेला ग्राउंड के समीप कराया जा रहा है, जिसके विरोध में स्थानीय लोगों ने यूनिवर्सिटी कैम्पस में प्रदर्शन किया । यहां तक कि प्रदर्शनकारियों ने कई ऐतिहासिक ढांचों को तोड़ दिया । 

इस हंगामे के दौरान यूनिवर्सिटी परिसर में करीब तीन हजार लोगों ने इकट्ठा होकर हंगामा किया । इन्होंने यूनिवर्सिटी परिसर में कई ऐतिहासिक ढांचों को तोड़ने के साथ ही दीवार के निर्माण के लिए रखी ईंट और सीमेंट को उठाकर फेंक दिया ।प्रदर्शनकारियों ने पास में खड़ी जेसीबी मशीन में भी तोड़फोड़ की । इस दौरान हंगामा करते लोगों ने अब तक बनी दीवार को भी ढहा दिया । 


आपको बता दें क शांति निकेतन में करीब 100 बीघा के करीब जमीन खुली हुई थी, जहां किसी प्रकार की रोक टोक नहीं थी । इस ग्राउंड पर मेला लगता था , जिस ग्राउड पर पौष मेला लगता है उसके आसपास परिसर के निर्माण के लिए 61 लाख रुपये मंजूर किए गए हैं । स्थानीय लोग इस ग्राउंड का इस्तेमाल सुबह की सैर के लिए करते हैं ।

 

Todays Beets: