Thursday, February 20, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

व्हाट्सएप पर ‘कुछ भी’ मैसेज करने की आदत वाले सावधान हो जाएं, पुलिस को दी जाएगी जानकारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
व्हाट्सएप पर ‘कुछ भी’ मैसेज करने की आदत वाले सावधान हो जाएं, पुलिस को दी जाएगी जानकारी

नई दिल्ली। अगर आप भी व्हाट्सएप पर चैट करने के आदी हैं तो संभल जाएं। व्हाट्सएप और टेलिग्राम चैट कंपनी अपने यूजर्स के चैट की जानकारी के लिए एंड टू एंड इन्स्क्रिप्शन का उपयोग करती है लेकिन अब वह इसकी जानकारी पुलिस को देने वाली है। हालांकि फिलहाल आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह मामला आॅस्ट्रेलिया में होने वाला है। आपको बता दें कि भारत में भी व्हाट्सएप के जरिए फैलाए गए कई मैसेज की वजह से दंगे और हत्याएं हुईं। सरकार ने व्हाट्सएप से इसकी जानकारी मांगी थी लेकिन उसने अभी इससे मना कर दिया है। 

गौर करने वाली बात है कि ऑस्ट्रेलिया में भी अभी यह नियम लागू नहीं हुआ है। एक ऐसा प्रस्ताव दिया गया है जो कि अभी प्रोसेस में है। यदि इस प्रस्ताव पर सहमति बनती है तो सरकार सोशल मीडिया कंपनियों पर मैसेज एक्सेस करने एंड टू एंड इनक्रिप्शन हटाने का दबाव बना सकती है। वहीं कई लोगों ने इस बिल का आलोचना की है और कहा है कि यह लोगों की निजता पर सीधा हमला है।


ये भी पढ़ें - JIO उपभोक्ता हैं तो आपके पास है इतराने का मौका , एयरटेल को दी जोरदार पटखनी

यहां गौर करने वाली बात है कि भारत के कानून मंत्रालय ने भी सोशल मीडिया के जरिए फैलाई गई अफवाह के बाद कई जगहों पर दंगे भड़के और माॅब लिंचिंग की घटनाएं हुईं। इसके बाद मंत्रालय ने व्हाट्सएप से इसकी जानकारी मांगी थी लेकिन कंपनी से ऐसा करने से मना कर दिया था लेकिन भविष्य में ऐसा हो सकता है कि ऑस्ट्रेलियाई पुलिस जैसा ही भारतीय पुलिस को भी व्हाट्सएप मैसेज पढ़ने की इजाजत मिल जाए।

Todays Beets: