Friday, April 23, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

 बेहतर फोटो के लिए सिर्फ मेगापिक्सल ही नहीं जिम्मेदार, इन टेक्नोलाॅजी का होना जरूरी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 बेहतर फोटो के लिए सिर्फ मेगापिक्सल ही नहीं जिम्मेदार, इन टेक्नोलाॅजी का होना जरूरी 

नई दिल्ली। आजकल डिजिटल कैमरे की जगह स्मार्टफोन ने ले लिया है। फोन इस्तेमाल करने से ज्यादा उनका मकसद बेहतर कैमरे का होता है। फोटो बेतहरीन आए इसके लिए हम ज्यादा मेगापिक्सल वाले फोन खरीदने पर जोर देते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि फोटो की क्वालिटी सिर्फ मेगापिक्सल पर नहीं बल्कि कुछ और भी चीजों पर निर्भर करती है। आइए इसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।  

गौरतलब है कि एक मेगापिक्सल में 10 लाख पिक्सल होते हैं। मेगापिक्सल पिक्चर की मेजरमेंट यूनिट है। आपको बता दें कि पिक्चर कई लाख पिक्सल्स से मिलकर बनती है ऐसे में पिक्सल्स जितने ज्यादा होंगे फोटो उतनी ही अच्छी आएगी। दरअसल, पिक्सल्स फोटो की साइज और क्वालिटी को बेहतर करते हैं। 

ये भी पढ़ें - अब आप बिना व्हाट्सऐप खोले भी भेज सकेंगे संदेश, जानें नए फीचर के बारे में


आमतौर पर आपने लोगों को कहते भी सुना होगा की पिक्चर के पिक्सल्स फट रहे हैं। इसका कारण कम मेगापिक्सल्स होना ही होता है। 8 मेगापिक्सल के कैमरे से खींची गई फोटो का एक बड़ा पोस्टर साइज प्रिंटआउट निकाला जा सकता है। दो या तीन मेगापिक्सल के कैमरे से ए4 या ए3 साइज का प्रिंट लिया जा सकता है। फोटो कितनी बड़ी होगी और बड़ी होकर उसकी क्वालिटी कितनी बेहतर होगी यह पिक्सल्स पर निर्भर करता है।

बेहतर फोटो के लिए मेगापिक्सल के साथ ही कैमरे के लेंस और उसकी क्षेत्र स्पीड भी जरूरी है। डिजिटल कैमरे में शटर स्पीड का मतलब है की किसी ऑब्जेक्ट को क्लिक करते समय कैमरा का सेंसर कितने देर तक ओपन रहेगा। शटर स्पीड जितनी कम होगी उतना अच्छा होगा। अलग-अलग शटर क्वालिटी के कारण इमेज क्वालिटी में अंतर आता है। ऐसे में मेगापिक्सल का मतलब यह नहीं है की आपके कैमरे की क्वालिटी भी अच्छी हो।

 

Todays Beets: