Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

राज्य के लोगों और पर्यटकों की बढ़ी मुसीबतें, आज से थम गए कुमाऊं मंडल में 25 हजार टैक्सियों के पहिए 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्य के लोगों और पर्यटकों की बढ़ी मुसीबतें, आज से थम गए कुमाऊं मंडल में 25 हजार टैक्सियों के पहिए 

देहरादून। राज्य के पहाड़ी इलाकों में रहने वालों के साथ ही पर्यटकों की मुसीबतें शुक्रवार से बढ़ सकती हैं। जी हां, अपनी मांगों को लकर कुमाऊं मंडल में टैक्सी मैक्सी का हड़ताल शुरू हो गया है। हड़ताल की वजह से करीब 25 हजार टैक्सियों की रफ्तार पर ब्रेक लग जाएगा। बता दें कि इन टैक्सियों के जरिए रोजाना करीब 1 लाख से ज्यादा लोग सफर करते हैं। टैक्सियों के नहीं चलने से पर्वतीय जिलों में यातायात व्यवस्था ठप होने की आशंका है। बता दें कि अपनी मांगों को लेकर टैक्सी मैक्सी महासंघ के आह्वान पर गढ़वाल में 27 सितंबर से टैक्सी चालक हड़ताल पर हैं। 

गौरतलब है कि गढ़वाल में टैक्सी चालकों की हड़ताल का समर्थन कुमाऊं के टैक्सी चालकों ने भी किया है। उनका कहना है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं लेकिन सरकार किराया नहीं बढ़ा रही है। वहीं दूसरी ओर वाहन मालिकों से ग्रीन कार्ड के नाम पर वसूली की जा रही है। 

ये भी पढ़ें - भाजपा विधायक ने लव जेहाद के बदले लव क्रांति सेना बनाने की अपील, सीएम भी उतरे समर्थन में


यहां बता दें कि ओवर लोडिंग में ड्राइवर का लाइसेंस निरस्तीकरण, जुर्माना और मुकदमा होता है। टैक्सी चालकों का कहना है कि एक गलती की तीन-तीन सजाएं देकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। सड़क हादसा होने पर चालक और वाहन स्वामी दोनों पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। स्पीड गर्वनर के नाम पर भी चालकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। इसके विरोध में कुमाऊं में टैक्सी मैक्सी की हड़ताल की जा रही है। 

 

Todays Beets: