Tuesday, November 12, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

बद्री-केदार के प्राचीन कुंडों का होगा जीर्णोंद्धार , धाम की यात्रा सुविधाओं में भी होगा इजाफा 

अंग्वाल संवाददाता
बद्री-केदार के प्राचीन कुंडों का होगा जीर्णोंद्धार , धाम की यात्रा सुविधाओं में भी होगा इजाफा 

नई दिल्ली/ देहरादून । उत्तराखंड में वर्ष 2013 की प्राकृतिक आपदा के बाद अपना अस्तित्व खो चुके प्राचीन कुंड समेत बीकेटीसी की धर्मशालाएं और पुजारी-कर्मचारी आवास का फिर से निर्माण होने जा रहा है । इतना ही नहीं आने वाले समय में बदरीनाथ धाम और केदारनाथ में यात्रा सुविधाओं को भी जल्द बढ़ाया जाएगा । नई दिल्ली स्थित उत्तराखंड भवन में उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में इस मुद्दे को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक हुई । इस बैठक में बदरीनाथ - केदारनाथ यात्रा की सुविधाएं बढ़ाए जाने को लेकर मंथन हुआ । इस दौरान बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति  (BKTC ) के अध्यक्ष की ओर से यात्रियों की सुविधा संबंधी योजनाएं मास्टर प्लान में शामिल करने के लिए कहा गया। 

विदित हो कि बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने पीएमओ से नामित अहमदाबाद के आर्किटेक्ट नकुल शाह के सम्मुख केदारनाथ में हंस कुंड, उदक कुंड, रेतस कुंड, आदिगुरू शंकराचार्य समाधि स्थल, गौरीकुंड, यात्री वेटिंग शेड, वेटिंग रूम, भोग मंडी निर्माण, मंदिर समिति कार्यालय, प्रशासनिक भवन, पुजारी निवास एवं कर्मचारी आवास के कार्य एवं बदरीनाथ में यात्रियों की सुविधा संबंधी योजनाएं मास्टर प्लान में शामिल करने के लिए कहा।


इस दौरान पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि सरकार बदरीनाथ धाम, केदारनाथ के साथ ही अन्य पौराणिक मंदिरों व तीर्थस्थलों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए जिस प्रकार से केदारनाथ में कायाकल्प की गई, अन्य तीर्थस्थलों को भी प्राथमिकता से सुविधाएं दी जाएंगी।

बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि बैठक में बदरीनाथ धाम और केदारनाथ में यात्रा सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दिया गया। उन्होंने बताया कि आपदा में केदारनाथ में बीकेटीसी के कई निर्माण कार्य बह गए थे, जिन्हें अभी तक मास्टर प्लान में शामिल नहीं किया गया था। अब पौराणिक कुंडों को फिर से पहचान मिलने की उम्मीद जगी है। इस मौके पर समिति के ईई अनिल ध्यानी के साथ ही चमोली, रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी के जिला पर्यटन अधिकारी मौजूद थे।  

Todays Beets: