Tuesday, November 12, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

बदरीनाथ हाईवे पर पैदल यात्रियों को भी लामबगड़ में खतरा , इलाके में सक्रिय हुआ भूस्खलन जोन 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बदरीनाथ हाईवे पर पैदल यात्रियों को भी लामबगड़ में खतरा , इलाके में सक्रिय हुआ भूस्खलन जोन 

गोपेश्वर । पिछले दिनों मानसून में हुए भूस्खलन के बाद अभी तक बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ में यातायात व्यवस्था सुगम नहीं हो पाई है । एक बार फिर से मंगलवार को लामबगड़ में चट्टान से हुए भूस्खलन के कारण तीन घंटे तक यातायात बाधित रहा । यहां लगातार जारी भूस्खलन के चलते तीर्थयात्रियों और स्थानीय लोगों की पैदल आवाजाही पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। इस सब के बावजूद तीर्थयात्री अपने वाहनों को पांडुकेश्वर और लामबगड़ में एक छोर पर छोड़कर आधा किलोमीटर पैदल चलने के बाद फिर लोकल वाहनों से बदरीनाथ धाम पहुंच रहे हैं। 

बता दें कि मानसून सत्र के दौरान लामबगड़ इलाके में भूस्खलन की लगातार हो रही घटनाओं ने यातायात व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया था । लगातार जारी भूस्खलन के चलते अब बद्रीनाथ धाम जाने वाले तीर्थयात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । 


इस समय स्थिति यह है कि हल्की बारिश के बाद यहां भूस्खलन शुरू हो जा रहा है । इसके अलावा यहां हाईवे सुधारीकरण कार्य में जुटी एनएच की कार्यदायी कंपनी की ओर से अलकनंदा की ओर से दीवार निर्माण कार्य अस्सी फीसदी तक पूर्ण कर लिया गया है, लेकिन भूस्खलन चट्टान के इर्द-गिर्द पेड़ों के कटान पर एनजीटी की रोक के कारण यहां सुधारीकरण कार्य नहीं हो पा रहा है।

इसी क्रम में मंगलवार सुबह 9 बजे बारिश के चलते लामबगड़ चट्टान से भारी मात्रा में मलबा और बोल्डर हाईवे पर आने से बदरीनाथ धाम जा रहे और धाम से लौट रहे वाहनों की आवाजाही रुक गई। दोपहर 12 बजे के बाद जाकर यहां आवाजाही को सुचारू किया जा सका । इस सब के बावजूद लामबगड़ में भूस्खलन चट्टान पर अभी तक ट्रीटमेंट कार्य शुरु नहीं हुआ है। 

Todays Beets: