Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

उत्तराखंड जाने वाले जरा ध्यान दें, पहाड़ी इलाकों में कई मोटर मार्ग बंद , 'व्हाइट कर्फ्यू' की जद में बड़ा इलाका

अंग्वाल संवाददाता
उत्तराखंड जाने वाले जरा ध्यान दें, पहाड़ी इलाकों में कई मोटर मार्ग बंद ,

देहरादून ।  उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में जाने की योजना बना रहे हैं तो अपने प्लान में बदलाव कर लें। इन दिनों उत्तराखंड के कई जिलों में भारी बर्फबारी से अधिकांश रास्ते बंद हो गए हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार रूक-रूक कर हो रही बर्फबारी के बाद आलम ये है कि कई इलाकों में 3-4 फुट तक की बर्फ जम गई है। रविवार देर रात देवभूमि के कई इलाकों में फिर से बर्फबारी हुई है। पौड़ी गढ़वाल समेत पिथौरागढ़ , रुद्रप्रयाग , चमोली , जौनसार समेत कई इलाकों में हुई बर्फबारी के चलते लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। वहीं इन इलाकों के पहाड़ी क्षेत्रों में जाने वाले अधिकांश रास्ते अब वाहन चलाने लायक नहीं हैं। मौसम विभाग ने आगामी 2-3 दिन स्थिति में कोई सुधार आने की संभावना नहीं जताई है।

मुनस्यारी में व्हाइट कर्फ्यू 

आलम यह है कि पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी का मुख्य बाजार पूरी तरह से  व्हाइट कर्फ्यू की जद में आ चुका है। रविवार को यहां करीब 9 इंच बर्फबारी हुई। एक बड़ी बात यह है कि 21 जनवरी से थल-मुनस्यारी मोटर मार्ग बंद पड़ा है। लगातार बर्फबारी होने के कारण मार्ग खोलने का कार्य में बाधा आ रही है। इतना ही नहीं यहां 22 जनवरी से बिजली सप्लाई भी बाधित है। इस सब के चलते अभी भी काफी पर्यटक इलाके में फंसे हैं।

रुद्रप्रयाग में सड़कों पर 3-4 फुट की बर्फ

इससे इतर, रुद्रप्रयाग में भी बर्फ की सफेद चादर ने पूरे इलाके को ढक लिया है। यहां कई मोटर मार्ग पर करीब 3-4 फुट की बर्फ जमा हो गई है। आलम यह है कि इलाकों में होने वाले शादी समारोह भी घर के भीतर ही संभव हो पा रहे हैं। वहीं ऐसे समारोह में जाने के लिए लोगों को कई-कई किलोमीटर भारी बर्फबारी में ही जाना पड़ रहा है। वाहनों के पहिए पूरी तरह जम गए हैं। 


हालांकि मौसम आज खुल गया

रुद्रप्रयाग में सोमवार सुबह तो घना कोहरा छाया रहा। लेकिन यमुनोत्रीधाम सहित पूरी यमुनाघाटी में मध्य रात्री से मौसम साफ रहा। वहीं क्षेत्र में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। साथ ही यहां चटक धूप खिली है। नई टिहरी और आसपास के क्षेत्रों में सुबह से चटख धूप खिली है।

सब्जियों का टोटा

पहाड़ी इलाकों में हुई भारी बर्फबारी के चलते अब बाजारों में सब्जियों का टोटा हो गया है। मंडियों से सामान बाजारों और दुकानों तक नहीं आने की सूरत में यहां लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जहां बर्फबारी के चलते लोगों का घर से बाहर निकलना दुभर हो गया है, वहीं बाजारों में भी सब्जियों की कमी हो गई है।

ठिठुरन बढ़ेगी, तापमान गिरेगा

प्लाइट कर्फ्यू की चपेट में आए देवभूमि के पहाड़ी इलाकों में आने वाले दिनों के मौसम को लेकर भी कोई अच्छी खबर नहीं है। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने अनुमान जताया कि आने वाले कई दिनों तक ठिठुरन बढ़ेगी। तापमान में और गिरावट आ सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण अभी ठंड से निजात नहीं मिलेगी। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण 30 जनवरी से मौसम में बदलाव आएगा। 31 जनवरी और एक फरवरी को बारिश और हिमपात की संभावना है।  उधर, हंसलिंग, राजरंभा, पंचाचूली, नंदादेवी, छिपलाकेदार की चोटियों पर लगातार हिमपात जारी है। 

Todays Beets: