Tuesday, May 24, 2022

Breaking News

    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||   आंध्र प्रदेश: गुड़ी पड़वा के जश्न के दौरान भक्तों के बीच मंदिर में मारपीट, दुकानों में तोड़फोड़-आगजनी     ||   दिल्ली एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचीं राणा अयूब     ||   सोनिया गांधी ने बोला केंद्र पर हमला, लगाया MGNREGA का बजट कम करने का आरोप     ||   केजरीवाल के आवास पर हमला: दिल्ली HC पहुंची AAP, एसआईटी गठन की मांग की     ||   राज्यसभा जा सकते हैं शिवपाल यादव! दो दिन से जारी है बीजेपी मुलाकातों का दौर     ||   यूपी हज समिति के अध्यक्ष बने मोहसिन रजा, राज्यमंत्री का भी दर्जा मिला     ||   दिल्ली: नई शराब नीति के विरोध में BJP, पटेल नगर समेत 14 जगहों पर शराब की दुकानें की सील     ||

हरक सिंह बोले - अगर यमराज बोलें कि भाजपा से बात कर लो....मैं कहूंगा मौत दे दो , कैमरे के सामने कई बार रोए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरक सिंह बोले - अगर यमराज बोलें कि भाजपा से बात कर लो....मैं कहूंगा मौत दे दो , कैमरे के सामने कई बार रोए

देहरादून/नई दिल्ली । उत्तराखंड विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी में मची उठापटक को लेकर सोमवार पूरे दिन बयानबाजियों का दौर जारी रहा । हालांकि इस हो हल्ले के सूत्रधार हरक सिंह रावत पूरे दिन कई बार भावुक नजर आए । मीडिया के सामने वह रो पड़े , बोले - अगर यमराज कहें कि मैं भाजपा से बात कर लूं तो मैं यही कहूंगा कि मुझे मौत दे दो । असल में हरक सिंह रावत को भाजपा ने रविवार रात पार्टी से निकाल कर 6 साल के लिए बर्खास्त कर दिया है , जिसके बाद वह कांग्रेस में शामिल होने की जुगत लगाने नजर आ रहे हैं । खबरें हैं कि वह टिकटों के लिए कांग्रेस से मोलभाव कर रहे हैं ।   

विदित हो कि हरक सिंह रावत को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया । इतना ही नहीं उन्हें भाजपा ने पार्टी से भी बाहर का रास्ता दिखा दिया है । उनपर आरोप लगाए गए हैं कि वह अपनी पुत्रवधु , एक समर्थक और अपने लिए टिकट मांगते हुए पार्टी पर दबाव बना रहे थे । लेकिन पार्टी ने दबाव में न आते हुए उन्हें ही पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया । 

हालांकि हरक सिंह रावत भाजपा के इन आरोपों को खारिज करते रहे । सुबह से लेकर शाम तक वह कई बार मीडिया के कैमरे के सामने आंसू साफ करते नजर आए । उन्होंने भाजपा को लेकर जो बयान दिए , उससे तो साफ हो गया है कि भाजपा उनपर किसी तरह का कोई रहम नहीं करने वाली । इसलिए अब वह कांग्रेस में फिर से अपने लिए मौका खौज रहे हैं । 

असल में हरक सिंह के रोने का एक कारण यह भी हो सकता है कि मार्च 2016 को 9 कांग्रेस विधायकों के साथ हरीश रावत की सरकार से बगावत करके हरक सिंह रावत जिस कांग्रेस में गए थे , अब उन्हें वहां से भी बाहर कर दिया गया है । उनकी बगावत के चलते हरीश रावत सरकार गिर गई थी और राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा था , लेकिन हरीश रावत ने सुप्रीम कोर्ट की लड़ाई से फिर कुर्सी तो पाई, लेकिन सरकार ज्यादा दिन नही चली । ऐसे में हरदा कैसे उस घटना को भूलकर हरक सिंह रावत को फिर अपने साथ खड़ा कर सकते हैं । 

हालांकि सार्वजनिक मंच से हरीश रावत ने कहा कि हरक सिंह रावत ने लोकतंत्र के खिलाफ काम किया है, उसके लिए प्रायश्चित करें । अभी तक उन्होंने हरक सिंह के नाम पर हामी नहीं भरी है  और न ही इनकार किया है । उन्होंने पार्टी पर हरक सिंह रावत की एंट्री के फैसले की जिम्मेदारी डाल दी है । 

हालांकि हरक सिंह के दल बदलने का पुराना इतिहास है । उन्होंने छात्र राजनीति के बाद अपने सियासी सफर का पहला चुनाव भाजपा के टिकट पर लड़ा । 


- इसके बाद उस समय जब उत्तराखंड , यूपी का ही हिस्सा था , वर्ष 1996 में हरक सिंह रावत ने बसपा का दामन थाम लिया । 

- मायावती के बेहद करीबी रहे हरक सिंह ने 1998 में कांग्रेस का दामन थाम लिया । 

- उत्तराखंड राज्य बनने पर कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे । 

- साल 2007 में कांग्रेस की ओर से नेता विपक्ष रहे । 

-  2016 में कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में गए । 

 

bjp expelled harak singh rawat       bjp sacked harak singh rawat       dhami cabinet      harak singh rawat       attack on bjp      harak singh rawat will join congress       bjp sake harak singh rawat      uttarakhand election 2022       aam aadmi party      uttarakhand news       election 2022       aap      ajay kothiyal    notice     election commission      harish rawat live       jageshwer    facebook live      election comission      digital campain    covid case in uttarakhand       guideline during corona      uttarakhand election 2022       AAP      congress       uttarakhand bjp       AAP candidates second list      bjp candidate list      dinesh mohaniya       uttarakhand news      dehradun news    उत्तराखंड विधानसभा चुनाव       आम आदमी पार्टी    आप के उम्मीदवारों की सूची जारी      दिनेश मोहनिया       विधानसभा चुनाव 2022       देहरादून की खबरें       उत्तराखंड चुनाव की खबरें      कोरोना की तीसरी लहर       नाइट कर्फ्यू      धामी सरकार       देवभूमि      उत्तराखंड की खबरें      उत्तराखंड में आरटीपीसीआर टेस्ट       कोरोना के मामले       पुष्कर सिंह धामी      डिजिटल प्रचार       वर्चुअल कैंपेन      हरक सिंह रावत      भाजपा ने हरक सिंह को पार्टी से निकाला   

Todays Beets: