Thursday, August 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

गढ़वाल में आचार संहिता के चलते लटकी 171 कॉलेजों की परीक्षा , उत्तर पुस्तिका की छपाई का काम अधर में

अंग्वाल संवाददाता
गढ़वाल में आचार संहिता के चलते लटकी 171 कॉलेजों की परीक्षा , उत्तर पुस्तिका की छपाई का काम अधर में

श्रीनगर । लोकसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही देश में इस समय आचार संहिता लागू है। 23 मई को देश में नई सरकार के लिए मतदान की मतगणना होगी, जिसके बाद नई सरकार के गठन का रास्ता साफ होगा, लेकिन इस सब के बीच आचार संहिता के चलते श्रीनगर गढ़वाल स्थित गढ़वाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय के 171 कॉलेजों में लगभग सवा लाख छात्र-छात्राओं की होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं । असल में मई के प्रथम हफ्ते में होने वाली परीक्षा के लिए उत्तरपुस्तिकाओं की छपाई का कार्य अभी बाकी है। इन उत्तर पुस्तिका की छपाई के लिए टेंडर प्रक्रिया होने के बाद अब विवि प्रशासन को छपाई के लिए वर्क ऑर्डर जारी करने थे लेकिन आचार संहिता के कारण इसमें पेंच फंस गया है।

सुभारती मेडिकल के 300 छात्रों को हल्द्वानी-श्रीनगर-देहरादून के सरकार मेडिकल कॉलेजों में शिफ्ट करे सरकार - सुप्रीम कोर्ट

गढ़वाल विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार एचएम अरोड़ा ने कहा कि गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के 171 कॉलेजों में लगभग सवा लाख छात्र छात्राएं हैं। इनकी मई में परीक्षाएं हैं लेकिन इनकी उत्तर पुस्तिका का टेंडर जारी होने के बाद अब छपाई के लिए वर्क ऑर्डर जारी किया जाना है। इसके लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी गई थी। इस समय आयोग की अनुमति का ही इंतजार किया जा रहा है।

रुद्रप्रयाग में बर्फबारी के चलते गाइड समेत भटके दो फ्रांसीसी पर्यटक , SDRF ने 2 दिन बाद किया रेस्क्यू


बहरहाल, अब चुनाव आयोग की अनुमति मिलने के बाद ही उत्तर पुस्तिकाओं की छपाई का काम हो सकेगा । अगर आयोग की ओर से अनुमति मिलने में देरी होती है तो यह साफ है कि परिक्षाएं देरी से आयोजित होगी। इसके बाद अगला सत्र भी देरी से शुरू होगा। इस सब के चलते आने वाले समय में शैक्षणिक सत्र प्रभावित होने की संभावना जताई जा रही है।

विकासनगर में मरीज को लेकर आ रही कार अनियंत्रित होकर शक्ति नहर में गिरी , 3 लोगों की मौत

 

Todays Beets: