Saturday, July 11, 2020

Breaking News

   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||   विकास दुबे का बॉडीगार्ड था एनकाउंटर में ढेर अमर दुबे, 29 जून को ही हुई थी शादी     ||   सरकार की लिस्ट में अब 'आवश्यक' नहीं रहे मास्क और सैनिटाइजर     ||   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||

उत्तराखंड में कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा , अभी देवभूमि के लोग ही कर सकेंगे दर्शन , जानें क्या हैं दिशानिर्देश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा , अभी देवभूमि के लोग ही कर सकेंगे दर्शन , जानें क्या हैं दिशानिर्देश

देहरादून । कोरोनाकाल के बीच 1 जुलाई से उत्तराखंड में चार धाम यात्रा शुरू होने जा रही है । हालांकि अभी इस यात्रा की अनुमति सिर्फ देवभूमि में रहने वाले लोगों को ही होगी । इसके लिए E-pass जारी किए जाएंगे । इसके साथ ही मंदिर में दर्शन के लिए ही यह पास मान्य होगा । उत्‍तरखंड चारधाम देवदर्शन बोर्ड ने यात्रा करने वालों के लिए एक स्‍टैंडर्ड ऑप‍रेटिंग प्रोसीजर जारी किया है । 

विदित हो कि उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड 1 जुलाई से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा के लिए मानक संचालन प्रक्रिया जारी करता है । हालांकि इस बार सिर्फ राज्य के निवासियों के लिए ई-पास लागू है । बोर्ड ने इस दौरान जो एसओपी जारी किया है , उसके अनुसार लोगों को कुछ नियम कायदों का पालन करना होगा ।  

 

चलिए बताते हैं इस एसओपी की प्रमुख बातें

– चारधाम यात्रा के लिए SOP जारी

– 1 जुलाई से राज्य स्तर पर शुरू होगी यात्रा

– उत्‍तराखंड केवल राज्य के स्तर पर ही फिलहाल चलेगी

– यात्रा कंटेनमेंट जोन और बफर जोन में निवासी नहीं कर पाएंगे चार धाम यात्रा

– यात्रा शुरू करने से पूर्व देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण जरूरी होगा

– रजिस्‍ट्रेशन में अपनी पूरी जानकारी देनी होगी

– सभी शर्तो के संबंध में सेल्फ डिक्लेरेशन करना होगा

 


 

– सेल्फ डिक्लेरेशन के बाद ई पास जारी होगा

– हर धाम में केवल एक ही रात्रि ही ठहरने की इजाजत

– किसी आपदा की स्तिथि में स्थानीय प्रशासन की लेनी होगी अनुमति

– कोविड 19 के लक्षण वाले व्यक्ति नहीं कर सकेंगे यात्रा

– 65 साल से अधिक के बुजुर्ग व 10 साल से कम के बच्चे को यात्रा न करने के निर्देशयात्रा

– हैंड सैनिटाइजर, मास्क व सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य

– कोई भी श्रद्धालु धाम में मंदिर के गर्भगृह सभा मंडप के अग्रभाग में नहीं जा सकेंगे

– मंदिर में प्रवेश से पहले हाथ पैर धोना जरूरी होगा

– परिसर के बाहर से लाए किसी प्रसाद चढ़ावे को मंदिर परिसर में लाना वर्जित

– देवमूर्ति को स्पर्श करना वर्जित

 

Todays Beets: