Saturday, September 21, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

उत्तराखंड - चमोली - टिहरी जिलों में बादल फटने से कोहराम , 4 लोगों की मौत , 11 घर मलबे के साथ बहे, गढ़वाल में बारिश से आफत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड - चमोली - टिहरी जिलों में बादल फटने से कोहराम , 4 लोगों की मौत , 11 घर मलबे के साथ बहे, गढ़वाल में बारिश से आफत

पौड़ी/देहरादून/चमोली । उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम की मार ने राज्य के विभिन्न जिलों में आफत खड़ी कर दी है । राज्य में चमोली और टिहरी में दो जगहों पर बादल फटने से जहां 11 घर पानी में बह गए , वहीं इस प्राकृतिक आपदा में 4 लोगों की मौत हो गई , जबकि 3 तीन लापता हो गए हैं। इसी क्रम में गढ़वाल में भारी बारिश के चलते लोगों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है । इतना ही नहीं बादल फटने की घटना में कुछ लोग घायल भी हुए हैं। इसके साथ ही कई मवेशी भी चपेट में आए हैं। हालांकि जहां स्थानीय लोग इस प्राकृतिक आपदा को बादल फटना करार दे रहे हैं, वहीं प्रशासन ने इस अतिवृष्टि करार दिया है । इस सब के चलते कई इलाकों में जहां बिजली आपूर्ति बंद हो गई है , वहीं कई इलाकों में भूस्खलन से एक बार फिर से कई रास्ते बंद हो गए हैं।

पहली घटना - टिहरी जिले के भिलंगना ब्लॉक की नैलचामी पट्टी के थार्ती गांव

टिहरी जिले के भिलंगना ब्लॉक की नैलचामी पट्टी के थार्ती गांव में गुरुवार देर रात करीब डेढ़ बजे बादल फटने से एक मकान मलबे में समा गया, जिससे घर में रह रही सुमन बुटोला की 30 वर्षीय पत्नी मकानी देवी और छह वर्षीय बेटे सुरजीत की मौत हो गई। वहीं इस घटना में उनकी 12 वर्षीया पुत्री सपना घायल हो गई। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद पूरे इलाके में बिजली आपूर्ति ठप हो गई , वहीं सड़कों पर मलबा आ गया है । 

दूसरी घटना  - चमोली जिले के देवाल क्षेत्र स्थित फल्दिया गांव में 


मिली जानकारी के अनुसार , बादल फटने की पहली घटना चमोली जिले के देवाल क्षेत्र के फल्दिया गांव में हुई । यहां बादल फटने के बाद बरसाती मलबे में दबने से एक मां-बेटी की मौत हो गई। इसके अलावा गांव में कुल 11 मकान मलबे के सैलाब में समा गए। गुरुवार देर गांव में बादल फटने से अफरातफरी मच गई। लोगों में अफरातफरी मच गई । इस दौरान मलबे में ग्रामीण रमेश की 29 वर्षीय पत्नी पुष्पा देवी  और पांच वर्षीया पुत्री ज्योति की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस और एसडीएम केएस नेगी सहित पूरी प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है। इसके अलावा देवाल क्षेत्र की सभी सड़कें बंद हो गई हैं। सिर्फ देवाल-थराली मोटर मार्ग खुला है। तलौर, बमण, बेरा, पदमल्ला आदि गांवों में भी भारी तबाही की सूचना है।

उत्तरकाशी में आकाशीय बिजली ने बरपाया कहर

इसी क्रम मे उत्तरकाशी के विभिन्न हिस्सों में गुरुवार देर रात पुरोला प्रखंड के दूरस्थ मोरेत्रा बुग्याल में आकाशीय बिजली गिरने से शिकारू गांव के ग्रामीणों की दो सौ ज्यादा भेड़-बकरियों की मौत हो गई है। 

 

Todays Beets: