Wednesday, August 5, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

हरिद्वार में हर की पौड़ी पर गिरी आकाशीय बिजली , ब्रह्मकुंड के नजदीक फैला मलबा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरिद्वार में हर की पौड़ी पर गिरी आकाशीय बिजली , ब्रह्मकुंड के नजदीक फैला मलबा

हरिद्वार । मानसून का मौसम पिछले कुछ सालों से उत्तराखंड के लिए बदस्तूर आफत लेकर आ रहा है । एक बार फिर से राज्य में मौसम ने करवट लेना शुरू कर दिया है । पिथौरागढ़ -देहरादून में बादल फटने की घटनाओं के बाद अब राज्य में तेज बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है । इस सबके बीच हरिद्वार में हर की पौड़ी पर आकाशीय बिजली गिरी है , जिससे वहां काफी नुकसान हुआ है । इस आकाशीय बिजली के चलते हर की पौड़ी पर एक दीवार ढह गई है, जिससे पूरे क्षेत्र में मलबा फैल गया है ।

विदित हो कि मौसम विभाग ने उत्तराखंड में आगामी कुछ दिनों के लिए अलर्ट जारी किया है । इस दौरान तेज बारिश और आकाशीय बिजली गिरने की बात कही गई है । इसी क्रम में जहां सोमवार से राज्य के कुछ इलाकों में बारिश हो रही है । वहीं हरिद्वार में सोमवार देर रात आकाशीय बिजली गिरी, जिससे हर की पौड़ी पर 80 फीट की दीवार गिर गई । आकाशीय बिजली हर की पौड़ी में ब्रह्मकुंड के नजदीक गिरी । इसके चलते पूरे इलाके में मलबा फैल गया । 

स्थानीय प्रशासन को जब इस घटना की जानकारी मिली तो कर्मचारियों ने वहां फैले मलबे को साफ किया । अखाड़ा परिषद के श्रीमहंत नरेंद्र गिरी भी हर की पौड़ी पहुंचे, उन्होंने यहां के हालात का जायजा लिया । 


यह भी अच्छी बात रही कि इस बार सावन के सोमवार में इस जगह भक्तों की भीड़ नहीं थी । कोरोना काल के चलते कावड़ियों के न आने और रात का समय होने के चलते घटनास्थल के पास लोग मौजूद नहीं थे । 

 

Todays Beets: