Wednesday, September 23, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

उत्तराखंड में 17 अगस्त तक भारी बारिश की चेतावनी , भूस्खलन , मूसलाधार बारिश से आई आफत , रेड अलर्ट जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में 17 अगस्त तक भारी बारिश की चेतावनी , भूस्खलन , मूसलाधार बारिश से आई आफत , रेड अलर्ट जारी

देहरादून । उत्तराखंड में मानसून का मौसम एक बार फिर से आफत भरा साबित हो रहा है । इस बार राज्य के कुछ इलाकों में हो रही मूसलाधार बारिश से राज्य के पहाड़ दरक रहे हैं । बारिश के साथ भूस्खलन की घटनाएं दिनों दिन बढ़ती जा रही है । इतना ही नहीं पहाड़ी इलाकों में मलबा घरों और सड़कों पर गिर रहा है । ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान को पार कर गई है । मौसम विभाग ने यहां 17 अगस्त तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है । विभाग की तरफ से दो दिन का रेड अलर्ट जारी कर दिया है ।  इस सबके बीच मौसम विभाग ने कुमाऊं रीजन और गढ़वाल के ऊंचे स्थानों में भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है । जहां पहाड़ी इलाकों में इस तरह की आफत है , वहीं मैदानी इलाकों में नदी नाले उफान पर हैं । राज्य के मैदानी इलाकों में पानी घरों में घुस रहा है ।

कर्णप्रयाग-बद्रीनाथ हाईव बाधित

चमोली में बारीश के चलते कर्णप्रयाग-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सहित 32 ग्रामीण मोटर मार्ग बाधित हुए हैं । इसके अलावा सार्वजनिक एवं व्यक्तिगत परिसंपत्तियों को भी नुकसान पहुंचा है । जिला प्रशासन की टीम विद्युत, पेयजल, यातायात सहित जरूरी सेवाओं को सुचारू करने में जुटी है ।

अनावश्यक यात्रा पर परहेज की सलाह

बता दें कि ऐसी आशंका जताई जा रही है कि पहाड़ों में भूस्खलन की घटनाओं में काफी बढोत्तरी होगी साथ ही नदी नालों में पानी बढ़ेगा । इससे मैदानी इलाकों में जल भराव भी होगा । मौसम विभाग ने लोगों को अनावश्यक रूप से कहीं भी यात्रा करने से परहेज करने की सलाह दी है । साथ ही प्रशासन को भी अलर्ट पर रहने को कहा है । 


मसूरी में मूसलाधार बारिश से दरके पहाड़

इसी क्रम में मसूरी में मंगलवार को मूसलाधार बारिश के बाद दरकते पहाड़ को देखकर घबरा गए । इस दौरान लोग अपने वाहनों को छोड़कर भागते दिखे । पहाड़ों से बड़े बड़े पत्थर नीचे गिरते देख लोगों ने अपनी जान बचाई । 

गंगा खतरे के निशान से ऊपर

इसी क्रम में  ऋषिकेश में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर है और पानी परमार्थ निकेतन पर लगी शिव की मूर्ति को छूने लगा है । जिस घाट पर रोजाना आरती होती थी, वहां सीढियों और जमीन का कहीं नामोनिशान नजर नहीं आ रहा ।  गंगा ही नहीं, उत्तराखंड के रामनगर में कोसी नदी भी उफान पर है । मंगलवार को नदी की तेज धार 22 साल के एक युवक को बहाकर ले गई । तभी पुल पर खड़े 32 साल के युवक की उस पर नजर पड़ गई । बहादुरी की मिसाल पेश करते हुए सन्नी नाम के युवक ने नदी में छलांग लगा दी और धार में बहते युवक को बचा लिया । रामनगर के विधायक ने सन्नी के हौसले को सलाम करते हुए उसे सम्मानित करने का फैसला किया है । 

 

Todays Beets: