Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

उत्तराखंड : हाईकोर्ट ने रावत सरकार से कहा- गुप्ता बंधुओं के जमानत वाले 4 करोड़ में से ढाई करोड़ वापस करो

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड : हाईकोर्ट ने रावत सरकार से कहा- गुप्ता बंधुओं के जमानत वाले 4 करोड़ में से ढाई करोड़ वापस करो

नैनीताल । हाईकोर्ट ने राज्य की त्रिवेंद्र रावत सरकार को आदेश दिया है कि वो उद्योगपति गुप्ता बंधुओं के वो उन 4 करोड़ रुपये में से ढाई करोड़ रुपये वापस करे, जो उन्होंने अपने परिवार की शादी के दौरान बुग्याल को नुकसान न होने की जमानत के तौर पर सरकार के पास जमा करवाए थे । इसके साथ ही कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि शाही शादी से पर्यावरण को कितना नुकसान हुआ। मामले की अगली सुनवाई फरवरी में होगी। मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन एवं न्यायामूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। 

विदित हो कि हाईकोर्ट की खंडपीठ ने इस मामले में दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद सरकार को आदेश दिए कि वह नुकसान के एवज में सरकार के पास जमा गुप्ता बंधुओं की 4 करोड़ की धनराशि में से ढाई करोड़ रुपये उन्हें वापस करे। कोर्ट ने पर्यावरण नुकसान मामले में सुनवाई के लिए शीतकालीन अवकाश के बाद फरवरी की तिथि नियत की है।

असल में गुप्ता बंधुओं के अपने बेटों की शाही शादी में बुग्यालों को संभावित नुकसान के एवज में यह राशि जमा कराई थी। असल में काशीपुर निवासी अधिवक्ता रक्षित जोशी की ओर से हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर करते हुए कहा गया था कि उत्तराखंड के औली बुग्याल में 18 से 22 जून 2019 तक गुप्ता बंधुओं की बेटों की भव्य शादी का आयोजन हुआ। इसमें 400 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की गई। 


इस दौरान मेहमानों को लाने ले जाने के लिए जहां 200 हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया गया है , वहीं इस दौरान कई ऐसी चीजों का इस्तेमाल किया गया , जो प्रकृति के लिए हानिकारक हैं। उनका कहना था कि मेहमानों को लाने ले जाने वाले  इन हेलीकॉप्टरों से पर्यावरण के साथ ही बुग्यालों और क्षेत्र में रहने वाले जंगली जानवरों को भी खतरा हुआ।

याचिकाकर्ता का कहना था कि राज्य सरकार ने  हाईकोर्ट की एकलपीठ की ओर से दिए गए आदेशों की अवहेलना की। एकलपीठ ने पहाड़ी क्षेत्रों के बुग्यालों आदि में किसी भी प्रकार की गतिविधि पर प्रतिबंध लगाया था। 

Todays Beets: