Tuesday, January 21, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

PAK बॉर्डर के करीब गढ़वाल राइफल्स के लापता जवान को खोजने के लिए ऑपरेशन चलाने की मांग ,  CM से मिले परिजन

अंग्वाल संवाददाता
PAK बॉर्डर के करीब गढ़वाल राइफल्स के लापता जवान को खोजने के लिए ऑपरेशन चलाने की मांग ,  CM से मिले परिजन

देहरादून  ।  11वीं गढ़वाल राइफल्स के जवान राजेंद्र सिंह के परिजन सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिले देहरादून पहुंचे। इस दौरान उन्होंने गत 8 जनवरी से लापता अनंतनाग फारवर्ड पोस्ट पर तैनात जवान राजेंद्र सिंह  को ढूंढने के लिए केंद्र सरकार से बातचीत की मांग की। परिजनों का कहना है कि उत्तराखंड के सीएम पीएम मोदी से इस संबंध में बात करें और उनके बेटे को वापस लाने में अहम ऑपरेशन चलाएं। परिजनों ने कहा कि इस तरह की खबरें मिल रही हैं कि वह भारी बर्फ में फिसलकर पाकिस्तान की सीमा में गिर गए हैं , जिसके बाद से उनकी कोई सूचना नहीं है । परिजनों की इस मांग पर मुख्यमंत्री ने परिजनों को केंद्र सरकार से बातचीत का आश्वासन दिया है। 

खबरों के अनुसार , अनंतनाग फारवर्ड पोस्ट के नजदीक गत दिनों एवलांच आने से राजेंद्र पाक सीमा की तरफ गिर गए थे। लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी उनका कोई पता नहीं चल पा रहा है। हालांकि सोशल मीडिया पर इस तरह कि खबरें है कि वह पाकिस्तानी सेना के कब्जे में हैं , लेकिन इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है । 


बता दें कि रविवार को राजेंद्र के पिता रतन सिंह नेगी, भाई कुंदन सिंह, सुरेंद्र सिंह नेगी, विधायक सहदेव सिंह पुंडीर के साथ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिले। इस दौरान राजेंद्र के पिता ने उनके बेटे को खोजने के लिए केंद्र सरकार से बात कर उचित कार्रवाई की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह इस संबंध में रक्षा मंत्री के साथ ही सेना के उच्चाधिकारियों से बातचीत करेंगे।

 

Todays Beets: