Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

स्थाई राजधानी की मांग को लेकर आंदोलनकारियों का सीएम आवास कूच की कोशिश नाकाम, 150 से ज्यादा हुए गिरफ्तार 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्थाई राजधानी की मांग को लेकर आंदोलनकारियों का सीएम आवास कूच की कोशिश नाकाम, 150 से ज्यादा हुए गिरफ्तार 

देहरादून। उत्तराखंड में गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने का मुद्दा एक बार फिर से जोर पकड़ने लगा है। गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने समेत 14 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री आवास की ओर कूच करने वाले करीब 150 आंदोलनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान दोनों के बीच जमकर धक्का-मुक्की भी हुई। हालांकि कुछ घंटे जेल में रखने के बाद निजी मुचलकों पर सभी को रिहा कर दिया गया। बताया जा रहा है कि आंदोलनकारियों में इस मुद्दे को लेकर सरकार के प्रति काफी नाराजगी है। 

गौरतलब है कि गांधी जयंति के मौके पर चिह्नित राज्य आंदोलनकारी समिति धरना-प्रदर्शन कर रही थी। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री को समिति ने 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण, स्थायी राजधानी गैरसैंण समेत अन्य मांगों के निराकरण को लेकर ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री से इस मामले में बात नहीं होने पर आंदोलनकारियों में काफी नाराजगी है। 

ये भी पढ़ें - निजी स्कूल खोलने के लिए नहीं काटने पड़ेंगे विभाग के चक्कर, 135 दिनों में मिलेगी मान्यता


यहां बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव से पहले इस बात का वादा किया था कि वह सरकार में आने पर गैरसैंण को राज्य की स्थाई राजधानी बनाने की ओर कदम उठाएगी लेकिन अभी तक सिर्फ इसके लिए वादे ही किए जा रहे हैं। गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मांग को लेकर आंदोलनकारी काफी समय से आंदोलन कर रहे हैं। अब अपनी इस मांग को लेकर ये लोग मुख्यमंत्री आवास की ओर कूच करने से पहले ही पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर सुद्धोवाला जेल भेज दिया गया। जेल पहुंचने के बाद कांग्रेस  के किशोर उपाध्याय और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह  वहां पहुंचकर आंदोलनकारियों को रिहा करने की मांग की। हालांकि जेल पहुंचने के बाद आंदोलनकारियों ने पुलिस को घरों में काम की दुहाई देकर उन्हें जल्द छोड़ने का अनुरोध किया। 

 

Todays Beets: