Monday, February 24, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार - उत्तराखंड को मिला Most Film-Friendly State का प्रथम पुरस्कार

अंग्वाल संवाददाता
66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार - उत्तराखंड को मिला Most Film-Friendly State का प्रथम पुरस्कार

देहरादून/नई दिल्ली । 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सोमवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन  में दिए गए । भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने इस समारोह में उत्तराखण्ड को Most Film-Friendly State का प्रथम पुरस्कार दिया । राज्य सरकार की ओर से यह पुरस्कार सचिव, सूचना दिलीप जावलकर ने लिया । सूचना प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार-2018 के अन्तर्गत इस बार उत्तराखण्ड राज्य का चयन किया गया। इस पुरस्कार को लेकर उपपराष्ट्रपति वैंकया नायडू ने कहा - उत्तराखण्ड सरकार द्वारा राज्य में फिल्म शूटिंगों के लिऐ अनुकूल वातावरण तैयार करने के सराहनीय प्रयास गये है। उन्होंनें कहा कि उत्तराखण्ड राज्य को यह पुरस्कार मिलने से जहाँ एक ओर पर्यटन के क्षेत्र में गति आयेगी  वहीं फिल्म शूंटिग में वृद्वि होगी।

इसलिए मिला उत्तराखंड को पुरस्कार

विदित हो कि इस पुरस्कार के अन्तर्गत  Most Film-Friendly State का प्रथम पुरस्कार फिल्म उद्योग को आगे बढ़ाने, जिसमें राज्य का फिल्म निर्माण के लिए सहज माहौल तैयार करना शामिल है, हुनर और कला के लिए प्रोत्साहन, बंद पड़े सिनेमा हॉल को फिर से खोलने के लिए प्रोत्साहित करने, फिल्म विकास कोष का निर्माण, फिल्म निर्माण के लिए पहले से प्रोत्साहन देने की योजना जारी रखने, अन्य सक्रिय भागीदारियों के अलावा उत्तराखण्ड फिल्म निर्माण के अलावा उत्तराखण्ड फिल्म विकास समिति का निर्माण के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया गया है।


प्रदेश में फिल्म निर्माण को मिलेगा बढ़ावा

उत्तराखंड सरकार के सचिव सूचना दिलीप जावलकर ने इस पुरस्कार को पाने के बाद कहा कि उत्तराखण्ड राज्य को यह पुरस्कार मिलने से प्रदेश में फिल्मों की शूटिंग को और अधिक प्रोत्साहन मिलेगा। देश-विदेश के फिल्म निर्माता राज्य में अधिक से अधिक संख्या में आयेंगे। उन्होंने कहा कि सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष भी हैं । उनके मार्गदर्शन में प्रदेश की फिल्म नीति को और अधिक आकर्षक बनाया गया। सीएम की स्पष्ट मंशा है कि राज्य में फिल्म निर्माण क्षेत्र को प्रोत्साहित किया जाय, राज्य में अधिक से अधिक फिल्म निर्माता आए, ताकि स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर बढ़े। मुख्यमंत्री के निर्देशन में राज्य सरकार द्वारा फिल्मों को सब्सिडी दिया जाना भी प्रारम्भ कर दिया गया है।

जावलकर ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर के इस पुरस्कार के लिए उत्तराखण्ड राज्य का चयन हम सभी के लिए गौरव की बात है। अल्प कार्यकाल में देश के अन्य राज्यों को पीछे छोड़ते हुए उत्तराखण्ड राज्य का इस पुरस्कार के लिए चयन हुआ है। फिल्मी हस्तियों में अभिनेता अक्षय कुमार, विक्की कौशल, तथा आयुष्मान खुराना को भी पुरस्कार प्रदान किया गया है। 

Todays Beets: