Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

नियमों की धज्जियां उड़ाकर फर्राटा भरने वाले हो जाएं सावधान, आज से ‘तीसरी आंख’ रखेगी नजर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नियमों की धज्जियां उड़ाकर फर्राटा भरने वाले हो जाएं सावधान, आज से ‘तीसरी आंख’ रखेगी नजर

देहरादून। रेड लाइट जंप करने या फिर जाम के खत्म होते ही सड़कों पर फर्राटा भरने के आदी हो चुके वाहन चालक सावधान हो जाएं। सोमवार से शहर व आसपास के क्षेत्र में लगे ऑटोमैटिक कैमरे सक्रिय हो जाएंगे। इन कैमरों में ओवरस्पीड वाहन की तस्वीर कैद होगी जिसके बाद चालान वाहन स्वामी के घर पहुंचेगा। शहर में दो जगह रेड लाइट जंप करने पर भी इसी तरह कार्रवाई होगी। बता दें कि फिलहाल ये कैमरे महाराजा अग्रसेन चौक, एनआईईपीवीडी, नंदा की चौकी, एफआरआई, मंडी चौक और मसूरी डायवर्जन पर लगे हैं।

गौरतलब है कि प्रदेश में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में लगातार इजाफा होता जा रहा है। इसके बाद से ही सड़कांे पर सुरक्षा नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए वाहन चलाने वालों पर नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी गई थी। इसके लिए शहर और आसपास के क्षेत्र में इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत कैमरे लगाए गए थे। बता दें कि इनमें दो तरह के कैमरे शामिल हैं। पहला थ्री डी राडार स्पीड वॉयलेशन चेक कैमरा सिस्टम और दूसरा ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकग्नीशन (पहचान) सिस्टम शामिल हैं।

ये भी पढ़ें - जल्द ही भारत और नेपाल के बीच शुरू होगी बस सेवा!, एसटीए ने रोडवेज को दी परमिट 


यहां बता दें कि एसपी ट्रैफिक का कहना है कि ज्यादातार सड़क हादसा तेज रफ्तार की वजह से होती है। उन्होंने कहा कि नियमों का उल्लंघन करने वालों का चालान मोटर वाहन अधिनियम के तहत किया जाएगा। इसके साथ ही हाईकोर्ट के आदेश के अनुसार लगातार नियम तोड़ने वाले चालकों का लाईसेंस भी निरस्त किया जाएगा। 

इसके साथ ही यातायात पुलिस ने फैंसी हाॅर्न और माॅडिफायड साइलेंसर वाली गाड़ी पर भी शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है। ऐसी गाड़ियों पर 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है। इस तरह की गाड़ियों पर सोमवार से 15 दिनों का अभियान चलाया जाएगा। 

Todays Beets: