Saturday, April 24, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

बॉर्डर पर अब नहीं दिखानी होगी कोविड जांच की रिपोर्ट , सिर्फ इन लोगों के लिए जरूरी होगा नियम

अंग्वाल संवाददाता
बॉर्डर पर अब नहीं दिखानी होगी कोविड जांच की रिपोर्ट , सिर्फ इन लोगों के लिए जरूरी होगा नियम

देहरादून । अब उत्तराखंड के बॉर्डर पर लोगों को अपनी कोरोना रिपोर्ट दिखाने का दबाव नहीं होगा । राज्य के बॉर्डर पर इस मुद्दे को लेकर हो रहे विरोध के मद्देनजर आखिरकार उत्तराखंड सरकार ने कदम पीछे खींच लिए हैं। अब बाहरी राज्यों से उत्तराखंड में आने वाले सभी लोगों के लिए बॉर्डर पर कोरोना की जांच जरूरी नहीं होगी। अब सिर्फ पर्यटन, फिल्म शूटिंग जैसी गतिविधियों वालों को ही नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। 

राज्य के स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने गुरुवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि यहां आने वाली गर्भवती महिलाओं, 10 साल से कम उम्र के बच्चे, बुजुर्ग कारोबारियों, बिजनेसमैन, वीआईपी, अधिकारियों एवं न्यायाधीशों को बॉर्डर पर जांच कराने की जरूरत नहीं है। घर पर किसी की मौत, बीमार होने, किसी काम से बाहर जाने के बाद वापस घर लौटने, परिजनों की देखभाल के लिए आने वाले लोगों के लिए बॉर्डर पर जांच अनिवार्य नहीं है।


वहीं प्रदेश के सीएम ने हाल में अपने एक बयान में कहा कि दूसरों राज्यों से उत्तराखंड आने वाले लोग जो तीन-चार दिनों के लिए आ रहे हैं, उनके लिए कोविड-19 टेस्ट की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जारी गाइडलाइल्स का पालन करना अनियवार्य होगा। 

विदित हो कि दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के बॉर्डर पर पेड कोरोना टेस्ट के मामले में गुरुवार को लोगों के विरोध के बाद प्रशासन को बैकफुट पर आना पड़ा। बाहर से आने वाले लोगों का पेड कोरोना टेस्ट शुरू होने के बाद लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। लोगों का कहना था कि वे 2400 रुपये में टेस्ट कैसे कराएंगे। लोगों ने टेस्ट के पैसे देने से मना किया तो दोपहर करीब साढ़े बारह बजे प्रशासन दोबारा फ्री वाला एंटीजन टेस्ट शुरू कर दिया। 

Todays Beets: