Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

शिक्षा विभाग में नहीं होगी काउंसलिंग, विकल्प और वरिष्ठता के आधार पर मिलेगी नियुक्ति

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षा विभाग में नहीं होगी काउंसलिंग, विकल्प और वरिष्ठता के आधार पर मिलेगी नियुक्ति

देहरादून। राज्य के शिक्षा विभाग ने शिक्षकों और कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। विभाग ने इनके स्थानांतरण, नियुक्ति और पदोन्नति के लिए होने वाली काउंसलिंग की प्रक्रिया को खत्म कर दिया गया है। अब इन्हें विकल्प और वरिष्ठता के आधार पर ही तैनाती दी जाएगी। सरकार की ओर से इसके लिए शासनादेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश को जनवरी 2018 से प्रदेश के सभी कार्यालयों और विद्यालयों में लागू किया गया है।

गौरतलब है कि शिक्षकों और कर्मचारियों के स्थानांतरण-पदोन्नति आदि में काउंसिलिंग के माध्यम से पदों को भरने का प्रावधान था। शासन की ओर से शुरू की यह व्यवस्था पिछले 2 सालों से चल रही है। अब प्रदेश सरकार की ओर से लोकसेवकों के लिए वार्षिक स्थानांतरण अधिनियम 2017 लागू कर दिया गया है। इस अधिनियम के आधार पर अब काउंसलिंग की व्यवस्था को खत्म कर वरिष्ठता और विकल्प के जरिए पदोन्नति और स्थानांतरण का प्रावधान किया गया है।

ये भी पढ़ें - बाड़ाहोती में एक बार घुसा ड्रैगन, चरवाहों को वापस जाने का किया इशारा


यहां बता दें कि यह व्यवस्था जनवरी 2018 से सभी शासकीय कार्यालय तथा विद्यालयों में लागू मानी गई है। शिक्षा सचिव डॉ.भूपिंदर कौर औलख ने नियुक्ति, पदोन्नति तथा स्थानांतरण प्रक्रिया में पहले से चली आ रही काउंसिलिंग की व्यवस्था को समाप्त करने के आदेश कर दिए हैं। इसके साथ ही नए अधिनियम के अनुसार पदोन्नति, नियुक्ति और स्थानांतरण के लिए नया शासनादेश जारी कर यिा गया है। 

 

Todays Beets: