Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

त्रिवेंद्र रावत कैबिनेट का फैसला, सरकारी नौकरी के रिक्त पदों की सीधी भर्ती में पत्नियां भी अब होंगी आवेदन की पात्र

अंग्वाल न्यूज डेस्क
त्रिवेंद्र रावत कैबिनेट का फैसला, सरकारी नौकरी के रिक्त पदों की सीधी भर्ती में पत्नियां भी अब होंगी आवेदन की पात्र

देहरादून । राज्य की त्रिवेंद्र सिंह रावत कैबिनेट ने बुधवार को अपने फैसले में एक अहम फैसला लेते हुए ऐलान किया है कि समूह ‘ग’ श्रेणी के रिक्त पदों की सीधी भर्ती में उत्तराखंड के स्थायी निवासियों की पत्नियां भी आवेदन करने के लिए पात्र होंगी। कैबिनेट के फैसले के बाद साफ हो गया है कि अब इन पद का लाभ उन लोगों को मिलेगा, जो राज्य या केंद्र सरकार की सेवाओं में स्थायी रूप से कार्यरत हैं या वे लोग जो उत्तराखंड से बाहर किसी अन्य प्रदेश में नौकरी कर रहे हैं और राज्य के स्थायी निवासी हैं। हालांकि अब से पहले पात्रता की श्रेणी में पत्नियां शामिल नहीं थीं।

औली में विधि-विधान से हुई गुप्ता बंधुओं के बेटे की शादी, तस्वीरों में देखें शादी के भव्य नजारे

बता दें कि सरकार ने पूर्व में समूह ‘ग’ पदों की भर्ती के लिए सेवायोजन पंजीकरण की अनिवार्य की शर्त रखी थी। हाईकोर्ट ने इसे असंवैधानिक बताते हुए सेवायोजन पंजीकरण की अनिवार्यता को समाप्त करने के आदेश जारी किए। इसके बाद प्रदेश सरकार ने समूह ग पदों पर आवेदन करने के लिए स्थायी निवासी या उत्तराखंड से हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की पात्रता रखी।

उत्तराखंड - नदियों नालों में डाला जा रहा ऑल वेदर रोड का मलबा , बारिश में फिर 'तबाही' का बनेगा कारण


नियमों के अनुसार समूह ग पदों के लिए वही अभ्यर्थी आवेदन कर सकता है, जो उत्तराखंड का स्थायी निवासी या हाईस्कूल और इंटरमीडिएट शिक्षा प्रदेश से प्राप्त की हो। साथ ही राज्य और केंद्र सरकार की सेवाओं में स्थायी रूप से कार्यरत कर्मचारियों के बच्चों को भी आवेदन के लिए पात्र माना था। इतना ही नहीं उनके बच्चों को रिक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदन करने का पात्र माना गया था लेकिन पत्नियों को नहीं , लेकिन अब कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया है कि पत्नियों को भी पात्रता की श्रेणि में शामिल किया गया है ।

 

टीम इंडिया को एक ओर झटका , शिखर-भुवनेश्वर के बाद अब कोहली का एक ओर 'शेर' हुआ चोटिल

 

Todays Beets: