Sunday, October 25, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

एसिड अटैक पीड़िताओं को पेंशन देगी उत्तराखंड सरकार! , ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बनेगा

अंग्वाल संवाददाता
एसिड अटैक पीड़िताओं को पेंशन देगी उत्तराखंड सरकार! , ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बनेगा

देहरादून । उत्तराखंड देश का पहला ऐसा राज्य बनने जा रहा है जो अपने यहां एडिट अटैक की पीड़ितों को पेंशन देगी । महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के इस मुद्दे पर कहा कि अभी देश में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है कि एसिड अटैक पीड़िताओं को कोई आर्थिक राहत मिले । लेकिन उत्तराखंड में अब महिला सशक्तिकरण विभाग ने ऐसी पीड़िताओं को प्रतिमाह 7 से 10  हजार रुपये पेंशन देना का प्रस्ताव तैयार किया है। इस प्रस्ताव को आगामी कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि एसिड अटैक के बाद सरकारी और निजी श्रेत्र की कंपनियां उन्हें नौकरी देने से संकुचाती हैं, ऐसे में ऐसी महिलाओं की खराब आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए हमने यह प्रस्ताव तैयार किया है ।

महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि कुछ समय पहले देवभूमि में एसिड अटैक से पीड़ित कुछ महिलाएं मुझसे मिली थीं । इन महिलाओं का कहना था कि उनका सामाजिक और मानसिक उत्पीड़न हो रहा है। तेजाब हमले के बाद से सरकारी और निजी किसी भी क्षेत्र में उन्हें नौकरी देने से लोग डर रहे हैं। इससे उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो चुकी है। ऐसे में सरकार उनपर ध्यान दे । सरकार कोई ऐसी व्यवस्था करे जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके। 


इन महिलाओं की गुहार सुनने के बाद हमरी सरकार ने एक प्रस्ताव बनाया । उन्होंने कहा कि महिलाओं की इस समस्या को देखते हुए इनको पेंशन देने की योजना बनाई जा रही है। वर्तमान में राज्य में इस तरह की 11 महिलाएं हैं। प्रत्येक पीड़ित महिला को सात से दस हजार रुपये तक हर माह पेंशन देने का प्रस्ताव है। पेंशन दिए जाने से ऐसी महिलाओं को काफी हद तक मदद मिलेगी। 

बहरहाल , अभी इस प्रस्ताव को कैबिनेट से हरी झंडी मिलना बाकी है । अगर ऐसा होता है तो उत्तराखंड इस तरह की पहल करने वाला पहला राज्य होगा । वर्तमान में किसी भी प्रदेश में तेजाब पीड़ितों को पेंशन नहीं दी जा रही है। 

Todays Beets: