Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

देवभूमि की दमदार पुलिस कप्तान , उपलब्धियों से भरे काम के रिकॉर्ड सुनकर रह जाएंगे दंग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
देवभूमि की दमदार पुलिस कप्तान , उपलब्धियों से भरे काम के रिकॉर्ड सुनकर रह जाएंगे दंग

देहरादून । क्या आपने उत्तराखंड की 'लेडी सिंघम' के बारे में सुना है , यह 'लेडी सिंघम' न तो शरीर से तगड़ी हैं न ही गुस्सैल , लेकिन अपनी कार्यकुशलता और अपने स्वभाव से उन्होंने प्रदेश में अपने काम का ऐसा डंका बजाया है कि विभागीय अधिकारियों के साथ ही जनता भी उन्हें काफी पसंद करती है। यह महिला अफसर कोई और नहीं बल्कि देहरादून की एसएसपी निवेदिता कुकरेती हैं, जो पिछले 10 सालों में दूसरी ऐसी SSP हैं, जिन्होंने राज्य की राजधानी में बतौर कप्तान अपना 2 साल का कार्यकाल पूरा किया है । उनके कार्यकाल के दौरान पुलिस का रिकॉर्ड देखेंगे तो चौंक जाएंगे । पिछले 2 सालों में देहरादून पुलिस ने हत्या के 100 फीसदी मामलों को सुलझाने में सफलता हासिल की है , वहीं प्रदेश समेत देश में सुर्खियां बंटोरने वाला एटीएम क्लोनिंग केस से लेकर किडनी कांड के आरोपियों को सलाखों के पीछे भेजा है ।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती अपने इस दो साल के कार्यकाल पर कहती हैं कि उनके कार्यकाल के दौरान देहरादून में तैनात सिपाही से लेकर थाना प्रभारी, सीओ और एसपी द्वारा टीम भावना से किए गए काम के चलते उन्हें यह सफलता हासिल हुई है।

उत्तराखंड - युवाओं के लिए अच्छी खबर , चुनाव बाद शुरू होगा 'बंपर भर्ती अभियान' , विभागों से खाली पदों की सूची मांगी

बता दें कि आज से 2 साल पहले 16 मई 2017 को निवेदिता कुकरेती ने देहरादून के एसएसपी के रूप में कार्यभाल संभाला था । इससे पहले कुछ कप्तान राजधानी में या तो मात्र 3 माह अपनी सेवाएं दे पाए या कुछ 1 साल तक ही टिक पाए । इस सब के बीच जब निवेदिता ने देहरादून की कानून व्यवस्था की कमान संभाली तो उनके सामने काफी चुनौतियां भी थीं । उनपर अपने बेहतर काम का दबाव तो था ही साथ ही कई लंबित मामलों के खुलासे की भी चुनौती थी।

पिथौरागढ़ की मुस्कान सिंह बनी जिले की पहली महिला पायलट , अब भारतीय वायुसेना में शामिल होकर देशसेवा करना लक्ष्य

अपने 24 माह के कार्यकाल में आज स्थिति यह है कि कुछ एक - दो मामले को छोड़कर किसी बड़े मामले में पुलिस जांच लंबित नहीं है । पुलिस ने न केवल अन्य मामलों में अपराधियों को सलाखों के पीछे भेज दिया , बल्कि कई मामलों में प्रदेश से बाहर के गैंग का पर्दाफाश करते हुए उन्हें भी दबोचा है ।


उत्तराखंड में नए शैक्षणिक सत्र से अब केवल 100 छात्र ही कर पाएंगे कम फीस में एमबीबीएस

जब निवेदिता ने देहरादून एसएसपी का कार्यभार संभाला था उस दौरान उनके सामने साकेत कॉलोनी में व्यापारी के यहां डकैती का मामला चुनौती के रूप में सामने खड़ा था । अभी वह इस मामले को समझ ही रहीं थी कि डोईवाला में डकैती का एक दूसरा मामला सामने आ गया था। हालांकि इन दोनों मामलों को उनके कुशल नेतृत्व में बहुत कम समय में ही खोल दिया गया ।  

चुनाव परिणामों के बाद कई विपक्षी नेताओ का बिगडेगा स्वास्थ्य , कपालभाती - अनुलोम विलोम की पड़ेगी जरूरत - बाबा रामदेव

खास बात यह है कि पिछले 2 साल के कार्यकाल के दौरान में जिले में हत्या की हुई सभी घटनाओं में मामलों को सुलझा लिया गया है । पुलिस ने हत्या के 51 मामलों में 74 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है । उन्होंने जुलाई 2017 में दर्ज हुए एटीएम क्लोनिंग के मामले में भी काफी सजगता से जांच की । यह देश का पहला मुकदमा बना था, जिसमें अलग-अलग 98 केस दर्ज किए गए थे। हालांकि यहां भी पुलिस ने मात्र 1 माह में एक बड़े गैंग का पर्दाफाश करते हुए हरियाणा से आरोपियों को दबोच लिया ।

इसी तरह सितंबर 2017 में उत्तरांचल डेंटल कॉलेज लालतप्पड़ डोईवाला के अंदर स्थित गंगोत्री चैरिटेबल हास्पिटल के नाम से हो रहे किडनी निकालने का अवैध कारोबार का भंडाफोड़ किया था। पुलिस ने इस मामले में 17 आरोपियों को गिरफ्तार किया ।

 

Todays Beets: