Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

टिहरी झील में शुरू हुई ‘स्कूबा डाइविंग’ , 2 हजार रुपये में पर्यटक ले सकेंगे मजा

अंग्वाल संवाददाता
टिहरी झील में शुरू हुई ‘स्कूबा डाइविंग’ , 2 हजार रुपये में पर्यटक ले सकेंगे मजा

टिहरी । उत्तराखंड में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ाने की दिशा में राज्य सरकार के साथ कई अन्य संस्थाएं आगे बढ़कर काम कर रही हैं । इसी क्रम में अब एडवेंचर टूरिज्म का लुफ्त उठाने वालों के लिए टिहरी बांध की विशालकाय झील में पर्यटकों के लिए स्कूबा डाइविंग की नई व्यवस्था की जा रही है । असल में, स्कूबा डाइविंग के तहत पर्यटक झील की गहराइयों में जलीय जीवन के साथ जलमग्न ऐतिहासिक पुरानी टिहरी शहर के अवशेषों को भी देख सकेंगे। रविवार को यहां निजी प्रयासों से स्कूबा डाइविंग का शुभारंभ किया गया। इसके लिए 2 हजार रुपये फीस रखी गई है । हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब टिहरी झील में स्कूबा डाइविंग शुरू हुआ हो, पिछले साल टिहरी झील महोत्सव के दौरान झील में पहली बार स्कूबा डाइविंग का इवेंट किया गया था।  

बता दें कि कोटी कॉलोनी में झील किनारे दस लोगों के लिए एक साथ स्कूबा डाइविंग करने के लिए साजो सामान जुटाया गया है। प्रति व्यक्ति दो हजार रूपये खर्च कर पर्यटक यहां स्कूबा डाइविंग का मजा उठा सकते हैं। असल में स्थानीय युवा अरविंद रतूड़ी ने अपने व्यक्तिगत प्रयासों से स्कूबा डाइविंग की शुरुआत की है। अरविंद रतूड़ी के मुताबिक स्कूबा डाइविंग शुरू होने से यहां पर्यटक झील की गहराइयों में जलीय जीवन के साथ पुरानी टिहरी शहर के अवशेषों को भी देख सकेंगे।


देश के सबसे ऊंचे टिहरी बांध की 42 वर्ग किमी में फैली विशालकाय टिहरी झील पर्यटन विकास की असीम संभावनाओं को संजोए हुए है। लेकिन सरकारी स्तर से पर्यटन विकास के लिए कोई खास प्रयास नहीं हुए हैं। स्थानीय बेरोजगार युवा ही बोटिंग, जेट स्की आदि के माध्यम से पर्यटन को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं।

 

Todays Beets: