Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

चमोली में मौसम का 'ट्रिपल अटैक' , कहीं जंगलों में आग तो कहीं मूसलाधार बारिश , 10 जून तक कुछ ऐसा ही बना रहेगा मौसम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चमोली में मौसम का

चमोली । उत्तराखंड के कई इलाकों में इस समय लोगों को मौसम के बदलते रंग का सामना करना पड़ रहा है । बात चमोली की करें तो यहां के लोगों को मौसम की तिहरी मार झेलनी पड़ रही है । जहां एक ओर यहां गर्मी के चलते एक बार फिर से जंगल धधकना शुरू हो गए हैं , वहीं गुरुवार रात और शुक्रवार को कुछ जगहों पर हुई तेज बारिश और आंधी तूफान के चलते लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा है । कुछ इलाकों में जलभराव के कारण लोगों को दिक्कतें आ रही हैं। वहीं  तेज तूफान के चलते लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो गए, वहीं दो कारों पर एक पेड़ गिर गया । इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है । इस सब के बीच आपदा प्रबंधन विभाग की टीम सड़कों पर टूट कर गिरे पेड़ों को हटाने का काम कर रही है । वहीं भारी तूफान -मूसलाधार बारिश के चलते बद्रीनाथ धाम की यात्रा पर जाने वाले लोगों को भी भारी आफतों का सामना करना पड़ रहा है । मौसम विभाग के अनुसार , चमोली के साथ अल्मोड़ा , रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में 10 जून तक मौसम इसी तरह बने रहने का अनुमान है।

वहीं गुरुवार शाम को देहरादून, मसूरी, ऋषिकेश और पौडी में रूक-रूक बारिश हुई, जबकि ऋषिकेश के पास तपोवन और तीन धारा जैसे स्थानों पर ओले भी गिरे. बारिश और ओलावृष्टि होने से तापमान में कुछ गिरावट आई और लोगों को कुछ राहत मिली ।  पिछले कई दिनों से प्रदेश में, खास तौर पर मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है जिससे लोग बेहाल हो रहे हैं । मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में शुक्रवार को भी मौसम खराब हो सकता है।

मौसम विभाग ने पहाड़ी जिलों में तेज हवाओं के साथ ओले गिरने का अनुमान लगाते हुए चेतावनी दी है। पहाड़ी जिले खासकर अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में ओले गिरने की आशंका है। दूसरी तरफ मैदानी इलाकों में आंधी तूफान की आशंका जताई है।


बता दें कि पिछले दिनों भारी गर्मी के चलते जंगलों में कई जगह पर आग लगने की घटनाएं सामने आईं थीं, जिसमें बड़ी संख्या में जैव संपदा के साथ ही जंगलों को भी भारी नुकसान हुआ था । इसके साथ ही एक बार फिर से जिले में मौसम ने ट्रिपल अटैक किया । जहां एक ओर जंगलों में आग धधकती नजर आई तो वहीं जिले के कुछ इलाकों में मुसलाधान बारिश के साथ तेज हवाओं ने लोगों को अपने घरों में कैद कर दिया । कुछ जगहों पर कच्चे मकानों के गिरने की खबर है ।

इस सब के बीच जिले से होकर बद्रीनाथ धाम की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । यहां पहुंचे श्रद्धालु तेज बारिश और तूफान के चलते अपने लिए सुरक्षित स्थान तलाशते नजर आए । इससे पहले गत दिनों चमोली में बादल फटने की घटना से भी भारी आफत आई थी । पानी के साथ भारी मात्रा में मलबा सड़कों और खेतों में भर गया था, जिसके चलते कुछ किसानों को भी भारी नुकसान हुआ था ।

 

Todays Beets: