Thursday, April 22, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

इस्तीफा देने के बाद त्रिवेंद्र सिंह बोले - मुझे हटाए जाने का कारण जानना है तो दिल्ली जाकर पूछें

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इस्तीफा देने के बाद त्रिवेंद्र सिंह बोले - मुझे हटाए जाने का कारण जानना है तो दिल्ली जाकर पूछें

देहरादून । उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मंगलवार शाम पत्रकार वार्ता में कहा कि मेरे जैसे सामान्य कार्यकर्ता को सीएम जैसा पद सिर्फ भाजपा जैसी पार्टी ही दे सकती है । अब राज्य की सेवा का मौका किसी और को दिया जाना है। हालांकि इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि आखिर उन्हें पद से हटाए जाने का कारण क्या है तो उन्होंने पत्रकारों से कहा यह तो आपको दिल्ली जाकर पूछना पड़ेगा । 

विदित हो कि राज्यपाल बेबी रानी आर्या को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद पत्रकार वार्ता में त्रिवेंद्र सिंह रावत बोले - मैं लंबे समय से काम कर रहा हूं , संघ के साथ भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता हूं । पार्टी ने मुझे 4 साल  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के तौर पर काम करने का मौका दिया , यह मेरे लिए स्वर्णिम अवसर रहा । एक ऐसे गांव में जहां अब 7-8 लोग ही रहते हैं , वहां मेरा जन्म हुआ , पिताजी एक सैनिक थे , लेकिन पार्टी ने मुझे जो सम्मान दिया , वो मैं सोच भी नहीं सकता था । यह भाजपा में ही हो सकता है कि एक छोटे से कार्यकर्ता को ऐसी जिम्मेदारी दी । अब पार्टी ने यह फैसला लिया कि अब मुझे किसी और को मौका देना चाहिए । मेरे चार साल के कार्यकाल में 9 दिन शेष रह गए थे । 


उन्होंने कहा कि मैं प्रदेश की जनता का आभार प्रकट करता हूं। हमने महिलाओं के लिए बच्चों के लिए जो नई नई योजनाएं बनाई , अगर पार्टी मुझे चार साल का मौका नहीं देती तो मैं यह काम नहीं कर सकता था । पति की पैतृक संपत्ति में हिस्सेदारी के साथ ही अन्य योजनाओं से लोग खुश हुए हैं ।

बहरहाल , कल किसे इस पद पर लाया जाएगा , यह सामुहिक विचार के बाद सामने आएगा । कल पार्टी मुख्यालय पर विधायक दल की बैठक है । इसके बाद बड़ा फैसला सामने आएगा ।  

Todays Beets: