Thursday, November 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

उत्तराखंड सरकार ने ढाई हजार करोड़ के अनुपूरक बजट को पास किया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड सरकार ने ढाई हजार करोड़ के अनुपूरक बजट को पास किया

देहरादून । उत्तराखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र में सोमवार को ढाई हजार करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट को पास कर दिया गया । वहीं सदन में श्राइन बोर्ड के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ को विपक्ष ने सदन की कार्यवाही को चलने नहीं दिया । विपक्ष ने प्रश्नकाल नहीं चलने दिया और वेल में बैठ गया। इसके बाद सदन की कार्यवाही शुरू हुई। जिसमें अनुपूरक बजट पर चर्चा की गई और सदन में बजट पास हो गया। इसके बाद तीन बजकर 44 मिनट पर सदन स्थगित कर दिया गया। वहीं श्राइन बोर्ड के गठन का विरोध करते हुए देवभूमि तीर्थ पुरोहित महापंचायत ने विधानसभा से कुछ दूरी पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की । इसके साथ ही गैरसैंण राजधानी की मांग को लेकर राजधानी गैरसैंण निर्माण समिति के सदस्यों ने विधानसभा कूच किया। 

बता दें कि विधानसभा में सोमवार को ढाई हजार करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट को पास कर दिया गया । हालांकि विपक्ष ने इस दौरान श्राइन बोर्ड के मुद्दे पर जमकर हंगामा जारी रखा । इससे इतर, सदन के बाहर देवभूमि तीर्थ पुरोहित महापंचायत ने सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया । विधानसभा से दूर पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर महापंचायत में शामिल लोगों को सदन से दूर रोकने के प्रयास किए । पुलिस ने उन्हें रोका तो जमकर धक्का-मुक्की भी हुई। पुलिस ने लाठियां फटकार कर प्रदर्शनकारियों को पीछे धकेला, जिसके बाद प्रदर्शनकारी वहीं धरने पर बैठ गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। 


महापंचायत के महामंत्री हरीश डिमरी के मुताबिक सरकार श्राइन बोर्ड के गठन को लेकर तीर्थ पुरोहितों को विश्वास में लेने की कोई कोशिश नहीं कर रही हैं। श्राइन बोर्ड के विरोध में ही तीर्थ पुरोहित एक बार पहले भी विधानसभा कूच कर चुके हैं। वहीं सेलाकुई में शीशम बाड़ा कूड़ा निस्तारण प्लांट हटाने की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने विधानसभा कूच किया।  

Todays Beets: