Friday, April 23, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

कुटुंब देवी मंदिर की खोज जारी

कुटुंब देवी मंदिर की खोज जारी
अल्मोड़ा. देशभर में दर्जनों ऐसी राष्ट्रीय धरोहरें हैं, जिनकाकुछ पता नहीं चल रहा। इनकी तलाश में जुटे भारतीय पुरातत्व विभाग ने अब इन धरोहरोंको खोज निकालने का जिम्मा इसरो को सौंप दिया है। उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र,असम, अरूणाचल प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में राष्ट्रीय धरोहरों की तलाश जारीहै। इनमें एक धरोहर उत्तराखंड में भी है। अल्मोड़ा के द्वाराहाट से गुम हुई राष्ट्रीयधरोहर का नाम कुटुंबरी देवी मंदिर है। आर्किलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के मुताबिक सन 1950 में द्वाराहाट का कुटुंबरी मंदिर पहाड़ीके ऊंचे ढलान पर स्थित था, लेकिन 1950 से 1960 के बीच यह मंदिर ध्वस्त हो गया औरइसकी सामग्री को आस-पास के लोगों ने अपने घरों की दीवारें बनाने के लिए इस्तेमालकर लिया। हालांकि इसकी प्रमाणिकता को लेकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

देशभर में गुम हुई 92 राष्ट्रीय धरोहरों में से68 को खोजा जा चुका है। इनमें से 42 अभी अस्तित्व में पाए गए जबकि 14 धरोहरेंशहरीकरण की तो 14 धरोहरें जलाशयों और बांधों की भेंट चढ़ गईं।


नेशनल रीमोट सेंसिंग सेंटर यानी इसरो इन दिनोंतकनीक की मदद से कुटुंब देवी मंदिर की खोज में जुटा है। बहरहाल, उम्मीद करते हैंकि सालों पहले विलुप्त हुए मंदिर के अवशेष एक बार फिर अस्तित्व में आएंगे।

  

Todays Beets: