Tuesday, June 18, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

नई दिल्ली। जेईई के इतिहास में पहली बार ऐसा होगा जब परिणाम जारी होने के बाद फिर से संशोधित लिस्ट जारी की जाएगी। आईआईटी प्रबंधन ने अपनी इमरजेंसी बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए जेईई एडवांस की कटऑफ लिस्ट को गिराकर दोबारा परिणाम जारी करने का फैसला लिया है।

गौरतलब है कि इस बार जेईई एडवांस में सीटों की तुलना में बहुत कम छात्रों पास हुए थे रिजल्ट पर केंद्र सरकार ने अपनी चींता जताते हुए आईआईटी को यह सुझाव दिया कि लिस्ट को फिर से जारी की जाए।

ये भी पढ़े -UPSC में निकली बंम्पर भर्तियां, इस तरह करें आवेदन

आईआईटी के इस फैसले से उन छात्रों को राहत मिलेगी जो कटऑफ हाई होने के कारण सफल नहीं हो सके। यहां आपको बता दें की मेरीट लिस्ट जारी होने से 13,850 अत्तिरिक्त छात्रों को लाभ प्राप्त होगा। इस तरह कुल मिलाकर पास होने वाले छात्रो की संख्या 31,988 हो जाएगी।


इस बार सामान्या कटऑफ 126 अंक गया था जिसे बदलकर अब 90 अंक कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़े -एटीएम से पैसे निकालने के लिए अब आधार कार्ड का भी कर सकेंगे इस्तेमाल, ये है तरीका

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि आईआईटी प्रबंधन को निर्देश दिया गया है कि आईआईटी की एक भी सीट खाली न रहे। क्योंकि एक-एक सीट बेहद महत्वपूर्ण होती है। जेईई एडवांस में क्वालिफाइड छात्रों की संख्या कम होने पर आईआईटी प्रबंधन की इमरजेंसी बैठक आयोजित हुई थी। उसके बाद इस फैसले को मंजूरी दे दी गई।

Todays Beets: