Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

नई दिल्ली। जेईई के इतिहास में पहली बार ऐसा होगा जब परिणाम जारी होने के बाद फिर से संशोधित लिस्ट जारी की जाएगी। आईआईटी प्रबंधन ने अपनी इमरजेंसी बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए जेईई एडवांस की कटऑफ लिस्ट को गिराकर दोबारा परिणाम जारी करने का फैसला लिया है।

गौरतलब है कि इस बार जेईई एडवांस में सीटों की तुलना में बहुत कम छात्रों पास हुए थे रिजल्ट पर केंद्र सरकार ने अपनी चींता जताते हुए आईआईटी को यह सुझाव दिया कि लिस्ट को फिर से जारी की जाए।

ये भी पढ़े -UPSC में निकली बंम्पर भर्तियां, इस तरह करें आवेदन

आईआईटी के इस फैसले से उन छात्रों को राहत मिलेगी जो कटऑफ हाई होने के कारण सफल नहीं हो सके। यहां आपको बता दें की मेरीट लिस्ट जारी होने से 13,850 अत्तिरिक्त छात्रों को लाभ प्राप्त होगा। इस तरह कुल मिलाकर पास होने वाले छात्रो की संख्या 31,988 हो जाएगी।


इस बार सामान्या कटऑफ 126 अंक गया था जिसे बदलकर अब 90 अंक कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़े -एटीएम से पैसे निकालने के लिए अब आधार कार्ड का भी कर सकेंगे इस्तेमाल, ये है तरीका

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि आईआईटी प्रबंधन को निर्देश दिया गया है कि आईआईटी की एक भी सीट खाली न रहे। क्योंकि एक-एक सीट बेहद महत्वपूर्ण होती है। जेईई एडवांस में क्वालिफाइड छात्रों की संख्या कम होने पर आईआईटी प्रबंधन की इमरजेंसी बैठक आयोजित हुई थी। उसके बाद इस फैसले को मंजूरी दे दी गई।

Todays Beets: