Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
असफल छात्रों को मिलेगा दूसरा मौका, दोबार जारी होगा जेईई एडवांस परिणाम

नई दिल्ली। जेईई के इतिहास में पहली बार ऐसा होगा जब परिणाम जारी होने के बाद फिर से संशोधित लिस्ट जारी की जाएगी। आईआईटी प्रबंधन ने अपनी इमरजेंसी बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए जेईई एडवांस की कटऑफ लिस्ट को गिराकर दोबारा परिणाम जारी करने का फैसला लिया है।

गौरतलब है कि इस बार जेईई एडवांस में सीटों की तुलना में बहुत कम छात्रों पास हुए थे रिजल्ट पर केंद्र सरकार ने अपनी चींता जताते हुए आईआईटी को यह सुझाव दिया कि लिस्ट को फिर से जारी की जाए।

ये भी पढ़े -UPSC में निकली बंम्पर भर्तियां, इस तरह करें आवेदन

आईआईटी के इस फैसले से उन छात्रों को राहत मिलेगी जो कटऑफ हाई होने के कारण सफल नहीं हो सके। यहां आपको बता दें की मेरीट लिस्ट जारी होने से 13,850 अत्तिरिक्त छात्रों को लाभ प्राप्त होगा। इस तरह कुल मिलाकर पास होने वाले छात्रो की संख्या 31,988 हो जाएगी।


इस बार सामान्या कटऑफ 126 अंक गया था जिसे बदलकर अब 90 अंक कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़े -एटीएम से पैसे निकालने के लिए अब आधार कार्ड का भी कर सकेंगे इस्तेमाल, ये है तरीका

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि आईआईटी प्रबंधन को निर्देश दिया गया है कि आईआईटी की एक भी सीट खाली न रहे। क्योंकि एक-एक सीट बेहद महत्वपूर्ण होती है। जेईई एडवांस में क्वालिफाइड छात्रों की संख्या कम होने पर आईआईटी प्रबंधन की इमरजेंसी बैठक आयोजित हुई थी। उसके बाद इस फैसले को मंजूरी दे दी गई।

Todays Beets: