Tuesday, October 23, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

खुशखबरी- CISCE ने 10वीं-12वीं कक्षाओं में विभिन्न विषय के पासिंग मार्क्स में किया बदलाव, बदलाव नए सत्र से 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खुशखबरी- CISCE ने 10वीं-12वीं कक्षाओं में विभिन्न विषय के पासिंग मार्क्स में किया बदलाव, बदलाव नए सत्र से 

 नई दिल्ली । काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट (CISCE) ने स्कूली छात्रों को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। सीआईएससीई की ओर से आए बयान के मुताबिक उन्होंने 10वीं और 12वीं कक्षा में विभिन्न विषय के पासिंग मार्क्स में बदलाव किया है। अब 10वीं में पास होने के लिए छात्रों को न्यूनतम 33 प्रतिशत और 12वीं में पास होने के लिए 35 प्रतिशत अंक लाने होंगे। इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी गई है। सीआईएससीई ने यह बदलाव पिछले दिनों मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ हुई बैठक के बाद किया है। यह बदलाव सत्र 2018-19 से लागू होंगे। 

सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी और सचिव गैरी अराथून ने इस अधिसूचना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह बदलाव देश में अन्य बोर्ड के अनुरूप परीक्षा की व्यवस्था बनाने और एकरूपता लाने के मकसद से किया गया है। नए बदलाव के तहत अब 10वीं और 12वीं की परीक्षा देने वाले छात्रों को बोर्ड में पास होने के लिए प्रत्येक विषय में 33 और 35 फीसदी अंक लाने होंगे। जबकि पहले उन्हें 35 और 40 फीसदी अंक लाने होते थे। बोर्ड ने इस संदर्भ में सभी संबद्ध स्कूलों के प्रमुखों को संबोधित करते हुए एक अधिसूचना जारी की है। 


बोर्ड ने सभी स्कूलों को आंतरिक परीक्षाओं में भी यह बदलाव लागू करने के लिए कहा है। बोर्ड की अधिसूचना में कहा गया है कि परिषद ने अन्य परीक्षा बोर्ड के साथ मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ बैठक में हिस्सा लिया, जिसमें उसे अंतर बोर्ड कार्यकारी समूह (आईबीडब्ल्यूजी) का सदस्य बनाया गया।  

Todays Beets: