Tuesday, August 22, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

SC ने पलटा सीबीएसई का फैसला, कहा- 25 साल से ज्यादा उम्र वाले छात्र भी दे सकेंगे NEET की परीक्षा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
SC ने पलटा सीबीएसई का फैसला, कहा- 25 साल से ज्यादा उम्र वाले छात्र भी दे सकेंगे NEET की परीक्षा

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 25 साल से ज्यादा  उम्र वाले छात्रों को बड़ी राहत देते हुए उन्हें एनईईटी की परीक्षा देने की अनुमति दे दी है। इसके साथ ही ऐसे छात्रों के लिए फॉर्म भरने की तारीख भी 5 अप्रैल कर दी गई है। बता दें कि एमबीबीएस और बीडीएस में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (एनईईटी) 2017 के लिए सीबीएसई ने अधिकतम उम्र सीमा 25 वर्ष कर दी थी। इसके चलते लंबे समय से मेडिकल की परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे बड़ी संख्या में छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया था। हालांकि जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि उम्र की बाध्यता अगले सत्र से लागू की जा सकती है, लेकिन इस सत्र से नहीं। 

ये भी पढ़ें-UPSC ने जारी किए NDA- NA 2017 प्रवेश परीक्षा के एडमिट कार्ड, 23 अप्रैल को आयोजित होगी परीक्षा

5 अप्रैल तक जमा कराएं ऐसे छात्र परीक्षा फार्म

बता दें कि इस परीक्षा के लिए सीबीएसई ने अधिकतम समय सीमा निर्धारित कर दी थी, जिसके चलते 25 साल से ज्यादा आयु के छात्र इस परीक्षा को नहीं दे सकते थे। ऐसी सूरत में छात्रों ने कोर्ट का रुख किया और कोर्ट ने छात्रों के पक्ष में फैसला सुनाते हुए ऐसे हजारों छात्रों को बड़ी राहत दी है। यूं तो इस प्रवेश परीक्षा का फार्म भरने की अंतिम तिथि 1 मार्च रखी गई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ऐसे छात्रों के लिए आवेदन की तारीख 5 अप्रैल कर दी है। 

ये भी पढ़ें-सीबीएसई की मूल्यांकन प्रक्रिया में होगा बदलाव, 10वीं के छात्रों को अब करनी होगी 5 की जगह 6 ...


सीबीएसई और मेडिकल काउंसिल विरोध में

वहीं सीबीएसई के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के बाद छात्रों के पक्ष में फैसला देने के चलते सीबीएसई और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने कोर्ट के फैसले पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि टेस्ट के लिए सारी तैयारियां हो चुकी हैं। 12 लाख फार्म जमा हो चुके हैं। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट को फिलहाल इस याचिका पर सुनवाई नहीं करनी चाहिए। इस बारे में अगले साल विचार किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें- कृषि क्षेत्र में नौजवानों के लिए करियर बनाने का आॅप्शन, कमा सकते हैं बढ़िया मुनाफा

Todays Beets: