Sunday, February 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

पत्नी की लाश कंधे पर ढोने वाला दाना मांझी बना लखपति, पीएम आवास योजना से घर भी मिला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पत्नी की लाश कंधे पर ढोने वाला दाना मांझी बना लखपति, पीएम आवास योजना से घर भी मिला

नई दिल्ली।  कभी अपनी पत्नी की लाश कंधे पर लेकर अस्पताल से अपने गांव तक पहुंचे ओडिशा के दाना मांझी आज लखपति बन गए हैं और उसकी तीनों बेटियां भुवनेश्वर के आवासीय विद्यालय में शिक्षा हासिल कर रही हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उसे एक घर भी दिया गया है जिसका फिलहाल निर्माण कार्य चल रहा है। बता दें कि दाना मांझी पैसे के अभाव में अपनी मृत पत्नी की लाश को अपने कंधे पर लादकर अस्पताल से अपने घर की 10 किलोमीटर की दूरी पैदल तय की थी।

बहरीन के पीएम ने की मदद

गौरतलब है कि दाना मांझी की तस्वीर/वीडियो ने काफी सुर्खियां बटोरी थी। इसके बाद बहरीन के प्रधानमंत्री प्रिंस खलीफा बिन सलमान अल-खलीफा ने दाना मांझी को 9 लाख रुपये दिए थे। बता दें कि जब उसे पैसे मिले उस वक्त मांझी के पास बैंक खाता भी नहीं था लेकिन आज उसके न सिर्फ बैंक खाते हैं काफी पैसे फिक्सड डिपाॅजिट में भी हैं। यहीं नहीं बहरीन के पीएम से मदद मिलने के बाद कई स्थानीय संस्थाओं ने भी उसकी मदद के लिए हाथ बढ़ाए थे। आज वह शानदार होंडा की बाइक पर चलता है।


ये भी पढ़ें - अब रोबोट करेंगे इलाज और लड़ेंगे चुनाव, जाने कहां होगा ऐसा

पीएम आवास योजना में मिला घर

यहां बता दें गरीबी की वजह से जिस दाना मांझी की ओर प्रशासन की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया जाता था उसे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर मुहैया कराया गया है और इसका निर्माण कार्य चल रहा है। दाना मांझी की तीनों बेटियां मुफ्त शिक्षा अभियान के तहत एक आवासीय विद्यालय में पढ़ाई कर रहीं हैं। इस बीच उसने दूसरी शादी कर ली है।

Todays Beets: