Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

परीक्षा से पहले ही यूपी बीटीसी-2015 के प्रश्न पत्र लीक, पूरी परीक्षा निरस्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
परीक्षा से पहले ही यूपी बीटीसी-2015 के प्रश्न पत्र लीक, पूरी परीक्षा निरस्त

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट (बीटीसी)-2015 चौथे सेमेस्टर के प्रश्नपत्र परीक्षा शुरू होने से पहले लीक होने के बाद सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब 8 से 10 अक्तूबर के बीच होने वाली पूरी परीक्षा निरस्त कर दी गई है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने यह फैसला लिया है। अब इस परीक्षा के लिए नई तारीख का ऐलान बाद में किया जाएगा। बता दें कि पर्चा कौशाम्बी में आउट हुआ था। बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए प्रश्न पत्र की जांच करने पर दोनों को समान पाया गया। इसके बाद ही परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय लिया गया है। 

गौरतलब है कि बीटीसी-2015 चौथे सेमेस्टर के साथ बीटीसी-2013 सेवारत बैच (मृतक आश्रित), बीटीसी-2014 (अवशेष/अनुत्तीर्ण) की परीक्षा प्रदेश भर में 8 अक्तूबर से शुरू हुई। बता दें कि परीक्षा शुरू होने से पहले ही प्रश्नपत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होने से परीक्षा के आयोजकों पर भी सवाल उठ रहे हैं। 


ये भी पढ़ें - यूपीएससी ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब नाम वापस ले सकेंगे अभ्यर्थी

यहां बता दें कि पूरे उत्तरप्रदेश में इस परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या 72688 है। बीटीसी की दो पालियों में होने वाली परीक्षा से पहले ही सोशल मीडिया पर गणित, विज्ञान, सामाजिक अध्ययन, हिंदी, अंग्रेजी एवं शांति शिक्षा एवं सतत विकास के प्रश्नपत्र वायरल हो गए। हालांकि शिक्षा विभाग के अधिकारी प्रश्नपत्र के लीक होने की घटना से इंकार करते रहे। 

Todays Beets: