Tuesday, May 21, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

मेडिकल और इंजीनिरिंग की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब साल में 2 बार आयोजित होंगी ‘नीट’ और ‘जेईई’ की परीक्षाएं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मेडिकल और इंजीनिरिंग की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब साल में 2 बार आयोजित होंगी ‘नीट’ और ‘जेईई’ की परीक्षाएं

नई दिल्ली। मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा देने वाले छात्रों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जल्द ही बड़ा तोहफा दिया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा की है कि अगले साल से मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन साल में 2 बार  आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि नीट की परीक्षा हर साल फरवरी और मई के महीने में आयोजित की जाएगी वहीं जेईई (मेन्स) की परीक्षा हर साल जनवरी और अप्रैल में कराई जाएगी। मंत्रालय ने कहा कि नेट की परीक्षा दिसंबर में आयोजित की जाएगी। 

ये भी पढ़ें - इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी कराने वाले कोचिंग सेंटर अब नहीं वसूल पाएंगे मनमानी फीस, परीक्...


गौरतलब है कि पत्रकारों से बात करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अब नीट, जेईई, नेट परीक्षाओं का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी करेगी। बता दें कि अब तक इन परीक्षाओं के आयोजन की जिम्मेदारी सीबीएसई पर थी। प्रकाश जावड़ेकर ने जेईई और नीट में प्रवेश देने के लिए दोनों मौकों में से छात्रों द्वारा हासिल किए गए सर्वाधिक प्राप्तांक पर विचार किया जाएगा। यहां बता दें कि सिलेबस और बाकी की औपचारिकताओं में कोई बदलाव नहीं किया गया है।  

Todays Beets: