Saturday, November 25, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

संगठन को दोबारा खड़ा करने के लिए 'आप' ने बनाई रणनीति, 10 जून को किसानों के मुद्दे पर प्रदर्शन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संगठन को दोबारा खड़ा करने के लिए

नई दिल्ली । पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी की होती फजीहत के बीच 'आप' की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की एक बैठक दिल्ली में हुई। इस दौरान एक बार फिर से संगठन को मजबूत करने की रणनीति बनाकर उसपर काम करने का निर्णय लिया गया। इतना ही नहीं इस दौरान पार्टी ने फैसला किया है कि वह किसानों की दुर्दशा और उनके कर्ज माफी को लेकर आगामी 10 जून को देशभर में विरोध प्रदर्शन करेगी। इस दौरान खास बात यह रही कि पार्टी के वरिष्ठ नेता और राजस्थान प्रभारी कुमार विश्वास ने भी बैठक में शिरकत की, जिनके बारे में कहा जा रहा था कि वह पार्टी की नीतियों को लेकर नाराज हैं और कभी भी पार्टी से अलग हो सकते हैं। 

ये भी पढ़ें- बिहार की छवि बाहर के नहीं बल्कि अंदर के लोग ही खराब कर रहे हैं - नीतिश कुमार

बता दें कि पिछले कुछ चुनावों में मिली हार के बीच पार्टी के नेताओं द्वारा वरिष्ठ नेताओं और विधायकों पर गंभीर आरोप लगाने के चलते आम आदमी पार्टी की साख में काफी गिरावट आई है। आप से अलग हुए कपिल मिश्रा द्वारा पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री पर कई घोटालों में लिप्त होने और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने के आरोपों के चलते पार्टी नेताओं की खासी फजीहत हुई है। इस सब के बीच संगठन को दोबारा से मजबूती से खड़ा करने की रणनीति के मद्देनजर राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई थी। इस बैठक में कई अहम मुद्दों के साथ संगठन को एक बार फिर खड़ा करने के लिए रणनीति बनाने पर चर्चा हुई। 


ये भी पढ़ें- सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने निजी सचिवों को पद से हटाया, टीपी जोशी को दी तैनाती

यूपी सरकार द्वारा किसानों की कर्ज माफी के बाद महाराष्ट्र में किसानों की कर्ज माफी का मुद्दा उठता देख आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर भुनाने की रणनीति बनाई है। इसी के मद्देनजर निर्णय लिया गया है कि पार्टी आगामी 10 जून को पूरे देश में किसानों की दुर्दशा और उनकी खेती कर्ज माफी को लेकर विरोध प्रदर्शन करेगी। 

ये भी पढ़ें- जेवर कांड की पीड़िता ने किया घर में आत्महत्या का प्रयास, पुलिस पर उदासीनता का लगाया आरोप

Todays Beets: