Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

अखिलेश की सौतेली मां साधना सिंह बोलीं - बहुत अपमान सहा अब मैं चुप नहीं बैठूंगी

अंग्वाल संवाददाता
अखिलेश की सौतेली मां साधना सिंह बोलीं - बहुत अपमान सहा अब मैं चुप नहीं बैठूंगी

लखनऊ  । उत्तर प्रदेश में यूं तो सातवें चरण का चुनाव प्रचार खत्म हो गया है लेकिन सूबे की सियासत को हिलाने वाला सपा पारिवारिक में कलह वाला जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर निकल आया है। अब सामने आई हैं मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना सिंह। उनके बयानों ने एक बार फिर सुबे की सियासत को हिला दिया है। उनका कहना है कि शिवपाल सिंह यादव के साथ पिछले दिनों जो भी हुआ वह गलत हुआ। अब मैं भी चुप नहीं रहूंगी। मैंने नेताजी को भी कह दिया है और अब मैं उनकी भी नहीं सुनने वाली। 

ये भी पढ़े -चिंदंबरम के बेटे कीर्ति ने कांग्रेस पर साधा निशाना कहा- पार्टी को पारिवारिक संपत्ति बना दिया

पद सैलरी नहीं चाहिए, पीछे नहीं हटूंगी

चुनाव प्रचार के खत्म होने के साथ ही साधना सिंह का बयान आने से पार्टी में एक बार फिर घमासान मचने की आशंका जताई जा रही है। उन्होंने कहा कि अब मैं पीछे नहीं रहने वाली। अब मैं आगे आकर काम करने को तैयार हूं। इस सब के बारे में मैंने नेता जी को भी बता दिया है। मैं कह दिया है कि अब मैं उनकी भी नहीं सुनने वाली। मुझे काम करने के लिए कोई पद नहीं चालिए न ही मुझे कोई वेतन चाहिए लेकिन यह बात तय है कि अब मैं पीछे नहीं हटूंगी। 

ये भी पढ़े -सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र-आरबीआई से पूछा- क्यों न सबके लिए पुराने नोट जमा कराने की तारीख 31 मार्च हो

मैंने लंबे समय तक अपमान सहा 


अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए साधना सिंह ने कहा कि चुप बैठने का अब कोई सवाल ही नहीं है। मैंने लंबे समय तक अपमान सहा है। हालांकि उन्होंने साफ कहा कि अखिलेश ने कभी भी मेरे लिए या मेरे खिलाफ कोई अपश्ब्द नहीं कहा है। वह मुझे पूरा सम्मान देते हैं लेकिन उन्हें बहकाया गया है। इस सब के बीच उन्होंने कहा कि अब प्रतीक भी राजनीति में आएगा। उन्होंने कहा कि मैं समाज सेवा से जुड़े काम करूंगी। 

ये भी पढ़े -शहरी विकास मंत्रालय ने सस्ते मकानों को जीएसटी के तहत सर्विस टैक्स से छूट की रखी मांग

शिवपाल को बताया पूरी तरह बेगुनाह

इस दौरान साधना सिंह ने कहा कि शिवपाल सिंह पूरी तरह निर्दोष हैं। उनकी जो भी छवि पेश की गई वह गलत है। नेती जी इस पार्टी का चेहरा है और उन्हें किसी भी कीमत पर पार्टी से अलग नहीं किया जा सकता। 

ये भी पढ़े -फ्लाइट में मरीज की जान बचाने वाली इस डॉक्टर को सोशल मीडिया पर सब मार रहे हैं सैल्यूट

Todays Beets: