Tuesday, May 21, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

बेरोजगारों के लिए अमरिंदर सरकार ने खोला बंपर भर्तियों का पिटारा, CM के आदेश के बाद 1 लाख पदों पर भर्ती की तैयारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बेरोजगारों के लिए अमरिंदर सरकार ने खोला बंपर भर्तियों का पिटारा, CM के आदेश के बाद 1 लाख पदों पर भर्ती की तैयारी

चंडीगढ़ । केंद्र की मोदी सरकार पर लोगों को रोजगार नहीं देने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस अब अपने स्तर पर बेरोजगारों को राहत देने की जुगत में जुटी है। इस सब के बीच खबर है कि पंजाब सरकार राज्य में बेरोजगारी से परेशान युवाओं के लिए बंपर नौकरियों का पिटारा खोलने जा रही है। सरकारी बयान में आधिकारिक प्रवक्ता का कहना है कि सरकार ने अलग अलग विभागों में लंबित करीब 1 लाख पदों पर भर्तियां शुरू करने जा रही है। इस भर्ती के जरिए शिक्षा विभाग , चिकित्सा , स्वास्थ और शोध जैसे विभागों में खाली पड़े पदों को भरा जाएगा। खुद राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बयान में कहा कि पहले इन विभागों में खाली पड़े पदों को भरा जाएगा, इसके बाद अन्य विभागों में खाली पड़े पदों को भरने की कवायद की जाएगी।

भर्ती की योजना बनाने के निर्देश

बता दें कि सीएम अमरिंदर सिंह ने मुख्य सचिव करण अवतार सिंह को निर्देश दिए हैं कि वह सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों को भरने के लिए आवश्यक योजना बनाएं। भर्ती की रूपरेखा तैयार करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर शुरू किया जाए। 


घर-घर रोजगार योजना पर चर्चा

असल में सीएम ने हाल में प्रदेश सरकार की घर-घर रोजगार और कारोबार मिशन स्कीम की प्रगति जानने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में सीएम ने मुख्य सचिव को उपरोक्त निर्देश दिए। इस दौरान सीएम ने अपनी योजना के तहत 5 करोड़ रुपये का फंड तत्काल जारी करने के लिए भी कहा। इस दौरान सीएम ने प्रदेश में बेरोजगारी को दूर करने के लिए अर्ध कुशल और अकुशल लोगों को प्रशिक्षण देने की योजना पर बी चर्चा की।

Todays Beets: