Wednesday, August 15, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

आईसीसी ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को बताया सबसे घटिया, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 14 दिन में देना होगा जवाब

अंग्वाल संवाददाता
आईसीसी ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को बताया सबसे घटिया, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 14 दिन में देना होगा जवाब

नई दिल्ली । अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने मंगलवार को एक बड़ा बयान देते हुए दुनिया में क्रिकेट के सबसे शानदार मैदानों में से एक मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को सबसे घटिया करार दिया है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) को झटका देते हुए आईसीसी ने कहा कि आईसीसी पिच और आउटफील्ड मॉनिटरिंग प्रक्रिया के तहत मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड  की पिच सबसे खराब है। आईसीसी मैच रेफरी रंजन मुदुगले ने इस संबंध में अपनी एक रिपोर्ट पेश की है, जिसमें इस तरह की बातों का जिक्र किया गया है। मुदुगले ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि एमसीजी पिच पर बाउंस मध्यम था, जबकि उसकी पेस धीमी थी। इस रिपोर्ट को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को भी दिया गया है। अब इस रिपोर्ट पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को जवाब देने के लिए 14 दिन का समय दिया गया है। 

ये भी पढ़ें- आशीष नेहरा को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विराट कोहली की टीम के बनाए गए कोच

बता दें कि आईसीसी के अधिकारियों ने एमसीजी की पिच पर चिंता जताई है, क्योंकि हाल में यहां ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड की एशेज श्रृंखला के तहत चौथा मैच खेला गया, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने 327 रन बनाए थे और दूसरी पारी 263 रनों पर पारी घोषित कर दी थी। इसमें इंग्लैंड ने एक पारी में ही 491 रन बनाए थे। उन्होंने कहा, 'पांच दिन तक चले टेस्ट मैच में पिच का नेचर नहीं बदला। ऐसे में देखा जाए, तो पिच बल्ले और गेंद के बीच समान संतुलन नहीं बना पा रही थी। इसमें न यह बल्लेबाज के अनुरूप काम कर रही थी और न ही गेंदबाज के अनुरूप। 

ये भी पढ़ें- विश्वनाथन आनंद ने लिया चार साल पुरानी हार का बदला, कार्लसन को हराकर जीती वर्ल्ड रैपिड चेस चैम...


असल में हाल में एमसीजी पर खेले गए टेस्ट मैच की पिच और आउटफील्ड को आईसीसी ने मॉनिटरिंग प्रक्रिया के तहत रेट किया। इस जांच के तहत अगर किसी मैदान की पिच को खराब बताया जाता है, तो आयोजन स्थन के मैरिट अंक कम हो जाते हैं, जो एमसीजी के साथ हुआ है। इतना ही नहीं अगर किसी मैच के रेफरी ने किसी मैदान की पिच को सामान्य से नीचे मापा तो उस स्टेडियम के खाते में एक डीमैरिट अंक जु़ड़ जाता है। 

ये भी पढ़ें- दक्षिण अफ्रीका सीरीज शुरू होने से पहले टीम इंडिया को झटका, शिखर की चोट उभरी

इसी तरह अन्य कई मानकों पर अगर किसी स्टेडियम को पांच डीमैरिट अंक मिलते हैं तो एक साल के लिए वहां कोई भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं हो सकता। वहीं डीमैरिट अंक 10 होने पर प्रतिबंध की अवधि 2 साल हो जाती है।

Todays Beets: