Monday, March 18, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

आईसीसी ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को बताया सबसे घटिया, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 14 दिन में देना होगा जवाब

अंग्वाल संवाददाता
आईसीसी ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को बताया सबसे घटिया, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 14 दिन में देना होगा जवाब

नई दिल्ली । अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने मंगलवार को एक बड़ा बयान देते हुए दुनिया में क्रिकेट के सबसे शानदार मैदानों में से एक मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच को सबसे घटिया करार दिया है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) को झटका देते हुए आईसीसी ने कहा कि आईसीसी पिच और आउटफील्ड मॉनिटरिंग प्रक्रिया के तहत मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड  की पिच सबसे खराब है। आईसीसी मैच रेफरी रंजन मुदुगले ने इस संबंध में अपनी एक रिपोर्ट पेश की है, जिसमें इस तरह की बातों का जिक्र किया गया है। मुदुगले ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि एमसीजी पिच पर बाउंस मध्यम था, जबकि उसकी पेस धीमी थी। इस रिपोर्ट को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को भी दिया गया है। अब इस रिपोर्ट पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को जवाब देने के लिए 14 दिन का समय दिया गया है। 

ये भी पढ़ें- आशीष नेहरा को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विराट कोहली की टीम के बनाए गए कोच

बता दें कि आईसीसी के अधिकारियों ने एमसीजी की पिच पर चिंता जताई है, क्योंकि हाल में यहां ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड की एशेज श्रृंखला के तहत चौथा मैच खेला गया, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने 327 रन बनाए थे और दूसरी पारी 263 रनों पर पारी घोषित कर दी थी। इसमें इंग्लैंड ने एक पारी में ही 491 रन बनाए थे। उन्होंने कहा, 'पांच दिन तक चले टेस्ट मैच में पिच का नेचर नहीं बदला। ऐसे में देखा जाए, तो पिच बल्ले और गेंद के बीच समान संतुलन नहीं बना पा रही थी। इसमें न यह बल्लेबाज के अनुरूप काम कर रही थी और न ही गेंदबाज के अनुरूप। 

ये भी पढ़ें- विश्वनाथन आनंद ने लिया चार साल पुरानी हार का बदला, कार्लसन को हराकर जीती वर्ल्ड रैपिड चेस चैम...


असल में हाल में एमसीजी पर खेले गए टेस्ट मैच की पिच और आउटफील्ड को आईसीसी ने मॉनिटरिंग प्रक्रिया के तहत रेट किया। इस जांच के तहत अगर किसी मैदान की पिच को खराब बताया जाता है, तो आयोजन स्थन के मैरिट अंक कम हो जाते हैं, जो एमसीजी के साथ हुआ है। इतना ही नहीं अगर किसी मैच के रेफरी ने किसी मैदान की पिच को सामान्य से नीचे मापा तो उस स्टेडियम के खाते में एक डीमैरिट अंक जु़ड़ जाता है। 

ये भी पढ़ें- दक्षिण अफ्रीका सीरीज शुरू होने से पहले टीम इंडिया को झटका, शिखर की चोट उभरी

इसी तरह अन्य कई मानकों पर अगर किसी स्टेडियम को पांच डीमैरिट अंक मिलते हैं तो एक साल के लिए वहां कोई भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं हो सकता। वहीं डीमैरिट अंक 10 होने पर प्रतिबंध की अवधि 2 साल हो जाती है।

Todays Beets: