Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

गावस्कर की धोनी को घरेलू क्रिकेट में जाकर खेल सुधारने की सलाह, कहा- ऐसा कर टीम इंडिया में दावेदारी मजबूत होगी

सुनीता गौड़
गावस्कर की धोनी को घरेलू क्रिकेट में जाकर खेल सुधारने की सलाह, कहा- ऐसा कर टीम इंडिया में दावेदारी मजबूत होगी

नई दिल्ली । पूर्व क्रिकेटर और दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने विश्व के सबसे बेहतर फिनिशर कहे जाने वाले क्रिकेट जगत के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी को एक बड़ी सलाह दी है। पिछले कुछ समय में अपने नाम के अनुकूल प्रदर्शन नहीं कर पाने पर  सुनील गावस्कर ने धोनी को सलाह दी है कि वह घरेलू क्रिकेट में लौटें ताकि वह अपनी पुरानी फॉर्म को दोबारा से हासिल कर सकें। ऐसा करके वह अपनीटीम इंडिया में दावेदारी को मजबूती से रख सकेंगे।

इंडिया टुडे से बातचीत में जब गावस्कर से पूछा गया कि क्या धोनी को घरेलू क्रिकेट में खेलना चाहिए तो उन्होंने कहा, ‘हां, बिलकुल। धोनी को डोमेस्टिक क्रिकेट खेलना चाहिए और चार दिवसीय क्रिकेट भी खेलना चाहिए क्योंकि वह झारखंड के कई उभरते क्रिकेटरों की मदद करेंगे। 50 ओवर के खेल में आपके पास सीमित मौके होते हैं, लेकिन जब आप चार दिवसीय मैच खेलते हैं और लंबी पारी खेलते हैं तो यह आपके स्टैमिना, आपके पैरों और आपके उस लय के लिए बढ़िया है जो आप सीमित ओवर के क्रिकेट में पाना चाहते हैं।’


बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी बल्ले से भले ही उतना बेहतर प्रदर्शन न कर रहे हों, लेकिन उनकी मौजूदगी कप्तान विराट कोहली और उनकी अनुपस्थिति में कमान संभालने वाले रोहित शर्मा के लिए बहुत फायदेमंद साबित होती है। खेल से जुड़े रणनीतिक फैसलों पर धोनी की राय को दोनों ही खिलाड़ी बेहद अहमियत देते हैं और इसका मैदान पर फायदा होता भी नजर आया है। कोहली या शर्मा ही क्यों, अन्य क्रिकेटरों ने भी धोनी की राय से फायदा मिलने की बात कही है। इस साल, धोनी ने 9 वनडे पारी में 27 के औसत से 189 रन बनाए हैं। उनका अधिकतम स्कोर 42 रन रहा है। आखिर के ओवरों में विस्फोटक बल्लेबाजी की उम्मीद रहती है, ऐसे में धोनी का प्रदर्शन टीम इंडिया की चिंता बढ़ाने वाला है। 

Todays Beets: