Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

कांग्रेस ने शुरू की ओबीसी आरक्षण कार्ड के जरिए वोटरों को साधने की कोशिश, सीमा बढ़ाए जाने की मांग  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेस ने शुरू की ओबीसी आरक्षण कार्ड के जरिए वोटरों को साधने की कोशिश, सीमा बढ़ाए जाने की मांग  

देहरादून। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने उत्तराखंड में अपना चाल चलना शुरू कर दिया है। सोमवार को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पिछड़ा वर्ग विभाग की बैठक का आयोजन किया गया। इसमें उनके लिए आरक्षण के अनुपात को बढ़ाने की बात कही गई। बता दें कि फिलहाल राज्य में पिछड़ी जातियों के लिए 14 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था है लेकिन कांग्रेस ने इसे बढ़ाकर 27 फीसदी करने की मांग की है।  प्रदेश अध्यक्ष संजय डोभाल ने कहा कि लोकसभा चुनाव के घोषणा पत्र में इसे शामिल करने का प्रयास किया जाएगा। 

गौरतलब है कि संजय डोभाल ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में कई पिछड़ी जातियों को ओबीसी के दायरे में लाया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले कुछ सालों में ओबीसी की जनसंख्या में काफी तेजी से वृद्धि हुई है लेकिन उनके लिए आरक्षण में कोई वृद्धि नहीं की गई है। उसे 14 फीसदी ही रखा गया है। उन्होंने कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग विभाग राज्य में उक्त आरक्षण को 27 प्रतिशत करवाने के लिए संघर्ष करेगा। 

ये भी पढ़ें - छात्रा से यौन शोषण पर सीएम ने दिए सख्त निर्देश, स्कूल की मान्यता होगी रद्द

उन्होंने कार्यकर्ताओं को भरोसा दिया कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र में इस मांग को शामिल करने का प्रयास किया जाएगा।  डोभाल ने कहा कि उत्तराखंड में ओबीसी के प्रमाणपत्र को रिन्यू करने की सीमा 3 वर्ष से बढ़ाकर 5 वर्ष की जानी चाहिए। डोभाल ने कार्यकार्ताओं को भरोसा दिलाया कि 1 माह के अंदर वह प्रदेश एवं जिला कार्यकारिणी का स्वरूप तय कर लेंगे।


 

यहां बता दें कि प्रदेश प्रभारी रविन्द्र सिंह ने कहा कि लोकसभा के चुनाव की तैयारियों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अन्य पिछड़ा वर्ग अभी से जुट जाए एवं बूथ स्तर तक जनता को कांग्रेस की उपलब्धियों से अवगत कराए। 

Todays Beets: