Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

दिवाली से पहले राज्य में छा सकता है अंधेरा, बिजली कर्मियों ने दी हड़ताल की चेतावनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिवाली से पहले राज्य में छा सकता है अंधेरा, बिजली कर्मियों ने दी हड़ताल की चेतावनी

देहरादून। रोशनी के पर्व दिवाली के मौके पर राज्य में अंधेरा छा सकता है। राज्य के बिजली कर्मियों ने मांगों के पूरा न होने की सूरत में हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। ऊर्जा ऑफिसर्स, सुपरवाइजर्स एंड स्टाफ एसोसिएशन ने सोमवार को सरकार को अल्टीमेटम दिया कि यदि वेतन विसंगति दूर करने के साथ ही एसीपी की पूर्व की व्यवस्था लागू नहीं की गई तो हड़ताल निश्चित है। 

बिजली कर्मियों का वेतन हुआ कम

गौरतलब है कि राज्य के बिजली कर्मचारी काफी समय से वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग कर रहे हैं। ऊर्जा ऑफिसर्स, सुपरवाइजर्स एंड स्टाफ एसोसिएशन की बैठक में केंद्रीय अध्यक्ष डीसी गुरुरानी ने सातवें वेतनमान में जहां प्रदेशभर के दूसरे कर्मियों के वेतन में इजाफा हुआ है, वहीं बिजली कर्मियों के वेतन कम कर दिए गए। गुरुरानी ने कहा कि अलग राज्य के गठन के साथ ही इस बात का निर्णय हो गया था कि बिजली कर्मचारियों का वेतन और सेवा शर्तों में किसी भी हाल में यूपी के कर्मचारियों से कम नहीं किया जाएगा। 

ये भी पढ़ें - जूनियर हाईस्कूल और माध्यमिक के फर्जी शिक्षकों पर भी गिरेगी गाज, मंत्री ने दिए दस्तावेजों की ज...

आज होगा प्रदर्शन


आपको बता दें कि डीसी गुरुरानी ने कहा कि सरकार ने पहले हुई बैठक में इस बात का फैसला लिया गया था कि छठे वेतनमान की विसंगतियों को सातवें वेतनमान में दूर कर दिया जाएगा लेकिन इसमें मामले को और अधिक उलझा दिया गया। उन्होंने कहा कि एसीपी के लाभ में बदलाव मंजूर नहीं है। इसके खिलाफ बिजली के सभी संगठन संयुक्त रूप से अभियान चलाएंगे। सरकार के इस फैसले के खिलाफ बिजली कर्मचारी मंगलवार को पिटकुल मुख्यालय के गेट पर प्रदर्शन करेंगे। गेट मीटिंग के बाद सरकार के स्तर पर चल रही तैयारियों की समीक्षा कर राज्यस्तरीय आंदोलन की घोषणा की जाएगी।

 

 

Todays Beets: