Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता का रिश्वत लेने का वीडियो वायरल, शासन ने किया निलंबित

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता का रिश्वत लेने का वीडियो वायरल, शासन ने किया निलंबित

देहरादून। पेयजल योजनाओं में घोटाले के बाद अब पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता का रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हो रहा है। शासन ने निगम के अधिशासी अभियंता इमरान अहमद को भ्रष्टाचार के मामले में प्रथम दृष्ट्या दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया है। अब उन्हें चार्जशीट सौंपने की तैयारी की जा रही है शासन ने अपर सचिव पेयजल को मामले की समयबद्ध जांच सौंपी है। उन्हें 15 दिनों के भीतर मामले की जांच कर शासन को रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

 

गौरतलब है कि भ्रष्टाचार का आरोन लगने के बाद पेयजल निगम के प्रबंध निदेशक भजन सिंह को जांच पूरी होने तक लंबी छुट्टी पर भेज दिया गया है। बता दें कि पेयजल निगम के निलंबित अधिशासी अभियंता इमरान अहमद दून शाखा में तैनात हैं। पिछले दिनों सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वे 9 लाख रुपये की रिश्वत लेते नजर आ रहे हैं। यह पैसे मोथरोवाला में बन रहे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के ठेकदार को भुगतान के एवज में लेना बताया गया है। 


ये भी पढ़ें - हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को दिया झटका, निकायों का परिसीमन किया रद्द

आपको बता दें कि रिश्वत लेने के अलावा उन पर हाथीबड़कला क्षेत्र को पानी सप्लाई करने वाले ओवरहेड टैंक में की खराबी को छिपाने का भी आरोप लगा है। इसके बाद मामला सामने आने के बाद उन्हंे निलंबित कर दिया गया है। प्रभारी सचिव पेयजल अरविंद सिंह ह्यांकि की ओर से इस संबंध में आदेश जारी किया गया है। 

Todays Beets: